National Teacher’s Day पर राष्ट्रपति के हाथों 75 शिक्षकों का सम्मान, महाराष्ट्र से मात्र पांच नाम

नवीन शिक्षण, अनुसंधान, सामुदायिक आउटरीच और काम की नवीनता को पहचानने की दृष्टि से भागीदारी (जन भागीदारी) को अधिकतम करने के लिए ऑनलाइन मोड में नामांकन मांगे गए थे।

176

शिक्षक दिवस पर प्रति वर्ष उल्लेखनीय कार्य के लिए शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। यह पुरस्कार केंद्रीय मंत्रालय के विभिन्न विभागों द्वारा दिया जाता है। इस वर्ष राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu) 5 सितंबर को विज्ञान भवन में 75 चयनित शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2023 (National Teacher’s Award 2023) प्रदान करेंगी। इस पुरस्कार समारोह में महाराष्ट्र से पांच शिक्षकों का समावेश किया गया है।

बढ़ाया राष्ट्रीय शिक्षक दिवस (Teachers Day) का दायरा
स्कूली शिक्षा (School Education) और साक्षरता विभाग (Literacy Department), शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) एक कठोर, पारदर्शी चयन प्रक्रिया के माध्यम से चुने गए देश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करने के लिए हर साल शिक्षक दिवस पर एक राष्ट्रीय स्तर का समारोह आयोजित करता रहा है। इस वर्ष से राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार का दायरा बढ़ाकर उच्च शिक्षा विभाग और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के शिक्षकों को इसमें शामिल कर लिया गया है। इस वर्ष 50 स्कूल शिक्षकों, उच्च शिक्षा से 13 शिक्षकों और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय से 12 शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा।

महाराष्ट्र से पांच गुरुओं का सम्मान
देश के 75 शिक्षकों में से महाराष्ट्र के मात्र पांच शिक्षकों का सम्मानित होनेवाले शिक्षकों की सूची में नाम है। जिसकी सूची इस प्रकार है।

स्कूली शिक्षा विभाग
मृणाल नंदकिशोर गंजले, जिला परिषद स्कूल, आंबेगांव, पुणे

तकनीकी शिक्षा विभाग
स्वाती योगेश देशमुख, क्राफ्ट इंस्ट्रक्टर, आईटीआई, लोअर परेल

उच्च शिक्षा विभाग
1. केशव काशीनाथ सांगले, प्रोफेसर, वीरमाता जीजाबाई तकनीकी संस्थान, मुंबई
2. डॉ.चंद्रगौड़ा रावसाहेब पाटील, प्रोफेसर, आर.सी पटेल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, धुलिया
3. डॉ.राघवन.बी.सुनोज, प्रोफेसर, आईआईटी, मुंबई

ये भी पढ़ें – सूर्य की ओर बढ़े भारत के कदम, पांच साल तक रोजाना ‘Aditya-L1’ भेजेगा नई जानकरी

शिक्षक पुरस्कार का औचित्य
शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में यह जानकारी दी। इसमें कहा गया है कि देश में हर साल 5 सितंबर को डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती Dr. Sarvepalli Radhakrishnan Anniversary) को राष्ट्रीय शिक्षक दिवस (National Teachers Day) के रूप में मनाया जाता है। राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार का उद्देश्य देश में शिक्षकों के अद्वितीय योगदान की खुशी मनाना और उन शिक्षकों को सम्मानित करना है जिन्होंने, अपनी प्रतिबद्धता और समर्पण के माध्यम से न केवल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया है बल्कि अपने छात्रों के जीवन को भी समृद्ध बनाया है। प्रत्येक पुरस्कार में योग्यता प्रमाण पत्र, 50,000 रुपये का नकद पुरस्कार (Cash Prize) और एक रजत पदक (Silver Medal) दिया जाता है। पुरस्कार विजेताओं को प्रधानमंत्री के साथ बातचीत करने का भी अवसर मिलेगा।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.