Lok Sabha Elections 2024: गया में पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ राजद के कुमार सर्वजीत, जानें चुनावी गणित

मांझी की उम्मीदवारी को महागठबंधन सरकार के पूर्व मंत्री और बोधगया निर्वाचन क्षेत्र से मौजूदा विधायक कुमार सर्वजीत से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है।

109

Lok Sabha Elections 2024: बिहार (Bihar) के पूर्व मुख्यमंत्री (former chief minister) जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) इससे पहले गया से तीन बार चुनाव लड़ चुके हैं और हर बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा। हालाँकि, उनकी चुनावी यात्रा एक और चुनौती के लिए तैयार है, क्योंकि वह राजद उम्मीदवार (RJD candidate) और स्थानीय पसंदीदा कुमार सर्वजीत (Kumar Sarvjeet) के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

मांझी की उम्मीदवारी को महागठबंधन सरकार के पूर्व मंत्री और बोधगया निर्वाचन क्षेत्र से मौजूदा विधायक कुमार सर्वजीत से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। गया सीट बिहार के राजनीतिक परिदृश्य में काफी महत्व रखती है।

यह भी पढ़ें- Delhi Politices:जेल से सरकार चलाने पर अड़े केजरीवाल, CM की जिद से संकट में दिल्ली!

ऐतिहासिक संदर्भ
गया की सीट पिछले चुनावों में लगातार एनडीए के पक्ष में रही है, जिससे मांझी की चुनावी लड़ाई का महत्व बढ़ गया है। हालाँकि, इस सीट पर मांझी का ट्रैक रिकॉर्ड निराशाजनक रहा है, पिछले तीनों प्रयासों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें- Kachiguda Railway Station: जानिए कहां है काचीगुडा रेलवे स्टेशन और यात्रियों के लिए क्या हैं सुविधाएं

राजनीतिक महत्व
मांझी को भाजपा, जद (यू), एलजेपी और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) से पूरा समर्थन मिला, जिससे उनके चुनावी अभियान को बल मिला। हालाँकि, राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन द्वारा समर्थित कुमार सर्वजीत एक बड़ी चुनौती बने हुए हैं।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections: जेल से सरकार, जानिये कैसा है दिल्ली का हाल

स्थानीय समीकरण
गया निर्वाचन क्षेत्र दशकों से मांझी की राजनीतिक विरासत से जुड़ा हुआ है, जबकि कुमार सर्वजीत की उम्मीदवारी क्षेत्र में एक नई गतिशीलता, संभावित रूप से नए आकार के चुनावी समीकरण पेश करती है।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: चुनाव प्रचार के दौरान इन नेताओं की फिसली जुबान, सोशल मीडिया पर बने मजाक

बिहार में चुनावी हलचल
गया निर्वाचन क्षेत्र मांझी के लिए प्रतीकात्मक महत्व रखता है, जिनकी चुनावी यात्रा 1991 की है, जब उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था और दूसरा स्थान हासिल किया था। अतीत में चुनाव लड़ने के बावजूद, गया में मांझी की चुनावी किस्मत मायावी बनी हुई है, 2019 में महागठबंधन के साथ उनका हालिया गठबंधन दूसरे स्थान पर रहा।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections 2024: पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के घर क्यों पहुंची पुलिस?

पहले चरण का मतदान
गया, तीन अन्य लोकसभा सीटों के साथ, पहले चरण में 19 अप्रैल को मतदान होना है। औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत इमामगंज विधानसभा क्षेत्र से मौजूदा विधायक मांझी की उपस्थिति, मतदान के रूप में चुनावी साज़िश को बढ़ाती है। क्षेत्र में प्रारंभ होता है।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.