70 सालों तक आपने क्या किया, पीढ़ियों तक शासन करनेवाले बताएं? – अमित शाह

370 का झुनझुना दिखाकर 70 साल तक तीन परिवार शासन करते रहे हैं। हमने कार्य किया है। अभी अनुच्छेद 370 हटे 17 महीने हुए हैं, 70 साल शासन में रहकर आपने क्या किया? क्या इसका हिसाब लेकर आए हैं? इसका उत्तर पीढ़ियों तक जम्मू-कश्मीर पर शासन करनेवाले दें। जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्ष के तीखे सवालों का उन्हीं के लहजे में उत्तर दिया।

कश्मीरी पंडितों को हर महीने 13 हजार

  • अमित शाह ने लोकसभा में बताया कि 44 हजार कश्मीरी पंडितों को सरकार 13 हजार रुपए प्रतिमाह देती है।
  • यह राशि उन्हें दी जाती है जिनके पास राहत कार्ड है।
  • इसके अलावा 3 हजार लोगों को नौकरी दे गई है।
  • 2022 तक 6 हजार कश्मीरी पंडितों को घर के साथ बसाएंगे

किसी की जमीन नहीं जाएगी

  • अनुच्छेद 370 का डर दिखाकर तीन परिवार का शासन
  • लोगों को जमीन छीने जाने का डर दिखाया गया
  • संसद में दिया आश्वासन किसी की जमीन नहीं जाएगी
  • उद्योगों के लिए सरकार के पास पर्याप्त जमीन
  • प्रशासन ने तैयार की 29 हजार 30 कनाल जमीन

18 साल का आंकड़ा 17 महीने में डाला

  • अमित शाह ने कांग्रेस नेता मनीष तिवारी को दिया जवाब
  • 18 साल में बंद पड़े उद्योगों को 17 महीनों में डाल दिया
  • 2022 के पहले 25 हजार नौकरियां दी जाएंगी

70 साल का काम 17 महीने में

  • पूर्व की सरकार की चार पीढ़ियों ने जो काम किया वो 17 महीने में हमने किया
  • स्वास्थ्य क्षेत्र में उल्लेखनीय काम
  • पनबिजली परियोजनाओं में 3490 मेगावाट कार्य
  • 3 लाख 57 हजार परिवारों को मिली बिजली
  • किसानों को 6 हजार रुपए प्रतिमाह अनुदान
  • छात्रों के हाथ में बंदूक के बजाय बैट, 8 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति
  • 2022 तक कश्मीर को रेल सेवा से जोड़ने का प्रस्ताव

देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान नहीं चलेंगे

  • यहां तीन परिवार करते थे राज
  • इन लोगों के दबाव में अनुच्छेद 370 को रखा गया
  • अब सामान्य लोग शासन कर रहे हैं

आप तो मोबाइल ही बंद कर दिये थे

  • हमने 2 जी, 4 जी को रोका
  • आपके काल में तो मोबाइल ही बंद कर देते थे
  • राज्य में अफवाह न फैले इसलिए इंटरनेट सेवा पर कुछ समय के लिए रोक लगाई

 

 

 

 

 

https://facebook.com/story.php?story_fbid=481703359493329&id=112757610278706

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here