Mumbai के इन हिस्सों में क्यों भरा पानी? आपातकालीन प्रबंधन प्राधिकारियों की बैठक में मंथन

8 जुलाई की सुबह से ही मुंबई का दैनिक जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है क्योंकि कई हिस्से पानी में डूब गए हैं।

92

Mumbai: 7 जुलाई की आधी रात से हो रही भारी बारिश के कारण 8 जुलाई को मुंबई के कई हिस्सों में पानी जमा हो गया। इनमें मुख्य रूप से हिंदमाता, मिलन सबवे, अंधेरी सबवे, गांधी मार्केट और अन्य इलाके शामिल हैं। इसके अलावा भांडुप रेलवे स्टेशन इलाके में भी पानी भर गया। पंपिंग स्टेशन, मिनी पंपिंग स्टेशन और पंप की व्यवस्था के बाद भी इन इलाकों में पानी जमा होने और जलनिकासी में देरी होने के कारणों का पता अब लगाया जा रहा है। इसके लिए 11 जुलाई को शहर और उपनगरों के आपातकालीन प्रबंधन अधिकारियों की एक बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में जलजमाव वाले क्षेत्रों और उनके कारणों की जानकारी ली जाएगी।

जल भराव से जन जीवन अस्त व्यस्त
8 जुलाई की सुबह से ही मुंबई का दैनिक जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है क्योंकि कई हिस्से पानी में डूब गए हैं। भांडुप, शिव, चूनाभट्टी आदि में जलभराव के कारण मध्य और हार्बर रेलवे सेवाएं बाधित हो गईं। इस कारण सप्ताह के पहले दिन काम पर आने वाले कर्मचारियों को छुट्टी लेनी पड़ी, जबकि निजी कार्यालयों के कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करना पड़ा। इस पहली भारी बारिश में हिंदमाता क्षेत्र, मिलन सब, गांधी मार्केट, अंधेरी, मलाड सबवे के साथ वडाला, भांडुप, घाटकोपर, मलाड मालवणी आदि कई जगहों पर पानी भर गया।

मनपा अधिकारी भी हैरान
हालांकि, विभिन्न व्यवस्थाओं के साथ-साथ उच्च क्षमता वाले पंपों और भूमिगत टैंकों के डिजाइन के बावजूद हिंदमाता और मिलन सबवे के साथ गांधी मार्केट आदि स्थानों में पानी भर जाने से मुंबई महानगरपालिका के अधिकारी हैरान हैं। इन जगहों पर पानी जमा होने से बीएमसी को जोर का झटका लगा है।

Unnao bus accident: बिहार के एक ही परिवार के छह सदस्यों की मौत, ऐसा होता तो बच जाती जान

11 जुलाई की बैठक
अब यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इस इलाके में पानी क्यों जमा हुआ है और इसकी निकासी क्यों नहीं की गई है। इसके लिए 11 जुलाई को मुंबई शहर और उपनगरीय आपातकालीन प्रबंधन अधिकारियों की एक बैठक होगी, जिसमें उन इलाकों की समीक्षा की जाएगी, जहां पानी भर गया है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि यह एक समीक्षा बैठक है कि अगली भारी बारिश के दौरान इन जगहों पर पानी जमा न हो और पानी की जल्द निकासी के लिए उपाय किए जाएं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.