Rajouri killing: राजौरी हत्याकांड के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ, ‘अबू हमजा’ के खिलाफ इनाम घोषित

उन्होंने कहा कि राजौरी-पुंछ के जुड़वां जिलों में तैनात पुलिस और सुरक्षा बल इस समूह को बेअसर करने के लिए काम कर रहे हैं।

92

Rajouri killing: पुलिस ने 24 अप्रैल (मंगलवार) को दावा किया कि प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) का “अबू हमजा” (Abu Hamza) कोडनाम वाला एक विदेशी आतंकवादी (Foreign terrorists) जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के राजौरी जिले में एक सरकारी कर्मचारी की हत्या (murder of government employee) में शामिल है और उसके बारे में जानकारी देने वाले को 10 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की। थानामंडी क्षेत्र के कुंडा टॉप गांव में सोमवार को मोहम्मद रजाक (40) की हत्या कर दी गई।

रजाक सरकार के समाज कल्याण विभाग में काम करते थे जबकि उनके भाई मोहम्मद ताहिर चौधरी प्रादेशिक सेना में एक सैनिक हैं। रजाक को मंगलवार को गांव में दफनाया गया। एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा, “लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) से जुड़े दो आतंकवादी गांव में प्रादेशिक सेना के एक अधिकारी के परिसर में घुस गए।”

यह भी पढ़ें- Israel-Hamas War: हिजबुल्ला ने इजराइल पर किया बड़ा हमला, लेबनान से दागे 35 राकेट

‘अबू हमजा’ का हाथ
उन्होंने बताया कि हालांकि चौधरी हमले में सुरक्षित बच गईं। अधिकारी ने कहा कि थानामंडी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और कहा, “आतंकवादी कृत्य में शामिल प्रत्येक व्यक्ति का पता लगाने के लिए एक जांच शुरू की गई है।” प्रवक्ता ने कहा, विश्वसनीय साक्ष्य प्राप्त हुए हैं जो हमलावरों में से एक की पहचान कोडनाम अबू हमजा के साथ “विदेशी आतंकवादी” के रूप में करते हैं।

यह भी पढ़ें-   Lok Sabha Elections 2024: प्रधानमंत्री मोदी आज को मध्य प्रदेश के चुनावी दौरे पर, इन कार्यक्रमों में लेंगे हिस्सा

10 लाख रुपये का इनाम
उन्होंने कहा कि राजौरी-पुंछ के जुड़वां जिलों में तैनात पुलिस और सुरक्षा बल इस समूह को बेअसर करने के लिए काम कर रहे हैं। पुलिस ने उसकी शक्ल का एक पोस्टर जारी करते हुए कहा कि आतंकवादी के बारे में जानकारी देने के लिए 10 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की गई है।

यह भी पढ़ें-  Israel-Hamas War: हिजबुल्ला ने इजराइल पर किया बड़ा हमला, लेबनान से दागे 35 राकेट

आतंकवादी गतिविधियों में शामिल
32 वर्षीय आतंकवादी ने भूरे रंग की शॉल के साथ पठानी सूट पहना हुआ था और उसके पास नारंगी रंग का बैग था। पुलिस ने कहा, वह शदरा शरीफ और डेर की गली इलाकों में काम कर रहा है और कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल है। प्रवक्ता ने कहा, “आरोपी की गिरफ्तारी के लिए कोई भी जानकारी देने वाले को 10 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा और सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी।”

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.