छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण का खेल! इन लोगों से पुलिस कर रही पूछताछ

वहां मौजूद सभी के हाथों में धर्म विशेष की छोटी किताबें थी, जिसके माध्यम से लोगों को कथित उपदेश दिया जा रहा था।

देश में धर्मांतरण का खेल जारी है, आए दिन कहीं न कहीं से ऐसे मामले सामने आते रहते हैं, जिस पर पुलिस कार्रवाई भी कर रही है। ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ से सामने आया है, यहां धर्मांतरण का खेल खेल रहे कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। बलरामपुर जिले के राजपुर से लगे ग्राम पहाड़खड़ूआ में 23 नवंबर की रात कथित तौर पर करवाए जा रहे धर्मांतरण को लेकर पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है। अभी तक पुलिस की ओर से मामले में अधिकृत बयान नहीं आया है।

बंद कमरे में चल रहा था धर्मांतरण का खेल!
पहाड़खड़ूया ग्राम में बाहर से कुछ लोगों के आने की सूचना भाजपा कार्यकर्ताओं को मिली थी। ग्रामीणों ने उन्हें जानकारी दी कि एक ग्रामीण के घर प्रार्थना सभा का आयोजन कर लोगों को धर्म विशेष से जोड़ने का प्रलोभन दिया जा रहा है। जिसकी सूचना भाजपा नेताओं ने राजपुर पुलिस को दी। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए रात में ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। एक ग्रामीण के घर भीतर से दरवाजा बंद कर उपदेश देने की आवाज बाहर तक आ रही थी। जब घर का दरवाजा खुलवाया गया तो वहां 20 से 24 लोग जमीन पर बैठे थे।

यह भी पढ़ें- खसरा प्रकोप: मुंबई में सुरक्षा ही सावधानी, पिछले चौबीस घंटे में 13 नए प्रकरण और एक की मौत

लोगों के हाथों में थी धर्म विशेष की किताब
पुलिस टीम को देख मकान मालिक ने आपत्ति जताई। उसका कहना था कि बाहर से आए लोगों को उसने बुलाया है। यह विशुद्ध धार्मिक आयोजन है। लेकिन ईसाई समाज के कथित पादरियों की उपस्थिति पर वह निरुत्तर हो गया। वहां मौजूद सभी के हाथों में धर्म विशेष की छोटी किताबें थी, जिसके माध्यम से लोगों को कथित उपदेश दिया जा रहा था। भाजपा कार्यकर्ताओं ने चंगाई सभा के नाम पर आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से धर्मांतरण कराने का आरोप लगाया है। पुलिस ने रात में ही चार लोगों को पकड़ कर राजपुर थाने लेकर गई, सभी से पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here