NEET Aspirant: कोटा में 17 वर्षीय NEET अभ्यर्थी ने कर ली आत्महत्या, इस साल ऐसी 12वीं घटना

जनवरी से कोटा में कोचिंग संस्थानों में नामांकित छात्र द्वारा की गई यह बारहवीं संदिग्ध आत्महत्या है।

95

NEET Aspirant: राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) जिले में राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (NEET) की तैयारी कर रहे 17 वर्षीय छात्र (17-year-old NEET candidate) ने आत्महत्या (suicide) कर ली। पुलिस ने 27 जून (गुरुवार) को बताया कि लड़के ने कोटा में अपने किराए के मकान में पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली।

जनवरी से कोटा में कोचिंग संस्थानों में नामांकित छात्र द्वारा की गई यह बारहवीं संदिग्ध आत्महत्या है। 2023 में, कोटा में कुल 26 छात्रों ने आत्महत्या की।दादाबाड़ी एएसआई शंभू दयाल ने बताया कि 12वीं कक्षा का छात्र हृषित कुमार अग्रवाल एक कोचिंग संस्थान में नीट की तैयारी कर रहा था। वह बिहार का रहने वाला था।

यह भी पढ़ें- Monsoon Session: लिफ्ट में हुई देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे की मुलाकात, सियासी गलियारों में मची हलचल

हृषित फंदे से लटका मिला
वह छोटा चौराहा दादाबाड़ी इलाके में एक इमारत के अंदर किराए के कमरे में रहता था, जहां कई अन्य कोचिंग छात्र भी रहते थे। गुरुवार को दोपहर करीब 1 बजे जब हृषित ने दरवाजे पर दस्तक देने पर भी कोई जवाब नहीं दिया तो साथी छात्रों ने पुलिस को सूचना दी। दरवाजा तोड़ने पर पुलिस ने पाया कि अग्रवाल अपने कमरे के अंदर पंखे से लटका हुआ था।

यह भी पढ़ें- Bolivia: सेना कमांडर द्वारा तख्तापलट का प्रयास विफल, राष्ट्रपति लुइस एर्से ने समर्थन के लिए दिया धन्यवाद

कोई सुसाइड नोट नहीं मिला
एएसआई के अनुसार अग्रवाल के कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। उन्होंने कहा कि शव सड़ने की स्थिति में मिला, जिससे संकेत मिलता है कि घटना बुधवार को हुई होगी। दादाबाड़ी सर्किल इंस्पेक्टर नरेश कुमार मीना ने बताया कि अग्रवाल पिछले दो सालों से कोटा में मेडिकल कॉलेज प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था और कोचिंग क्लास में भाग ले रहा था। उन्होंने यह भी बताया कि लड़के के माता-पिता को सूचित कर दिया गया है। उन्होंने आगे बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए एमबीएस अस्पताल भेज दिया गया है, जो उसके माता-पिता के आने के बाद होगा।

यह भी पढ़ें- Tamil Nadu Fishermen: जयशंकर ने एमके स्टालिन को श्रीलंका से तमिलनाडु के मछुआरों की रिहाई को लेकर कही यह बात

कोटा में आत्महत्या के अन्य मामले
इससे पहले, 16 जून को बिहार के एक अन्य निवासी आयुष जायसवाल (17) ने कोटा में अपने पीजी कमरे में आत्महत्या कर ली थी। वह आईआईटी-जेईई प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। 18 वर्षीय NEET की छात्रा बागीशा तिवारी की कथित तौर पर कोचिंग हब की एक इमारत की नौवीं मंजिल से कूदने के बाद मौत हो गई। यह घटना राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा NEET-UG के परिणाम घोषित किए जाने के एक दिन बाद हुई, जिसमें उसने 720 में से 320 अंक प्राप्त किए।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.