राष्ट्रीय प्राणी उद्यान ने मनाया जुड़वां शावकों का जन्मदिन

कार्यक्रम ने छात्रों को बाघों और जैव विविधता संरक्षण (biodiversity conservation) में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में जानने का एक अनूठा शैक्षिक अवसर प्रदान किया। राष्ट्रीय प्राणी उद्यान ने प्रत्येक उपस्थित छात्र को एक पौधा (plant) उपहार में देकर पर्यावरणीय स्थिरता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित की।

24

राष्ट्रीय प्राणी उद्यान (National Zoological Park) ने सफेद बाघिन (white tigress) सीता के जुड़वां शावकों (twin cubs) अवनी और व्योम का पहला जन्मदिन हर्षोल्लास से मनाया। उत्सव का मुख्य आकर्षण केक काटने की रस्म थी , जो नागरिकों और वन्यजीवों (wildlife) के बीच जुड़ाव के लिए शावकों के महत्व का प्रतीक था।

पर्यावरण के प्रति जताई प्रतिबद्धता
उत्सव में भाग लेने के लिए 11वीं कक्षा के छात्रों (students) को आमंत्रित किया गया था। इस कार्यक्रम ने छात्रों को बाघों और जैव विविधता संरक्षण (biodiversity conservation) में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में जानने का एक अनूठा शैक्षिक अवसर प्रदान किया। राष्ट्रीय प्राणी उद्यान ने प्रत्येक उपस्थित छात्र को एक पौधा (plant) उपहार में देकर पर्यावरणीय स्थिरता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित की। इस पहल का उद्देश्य न केवल उनकी भागीदारी के लिए आभार व्यक्त करना था, बल्कि भावी पीढ़ियों के बीच पर्यावरण के प्रति जिम्मेदारी की भावना भी पैदा करना था।

राष्ट्रीय प्राणी उद्यान में हैं 12 बाघ
अवनि और व्योम के पहले जन्मदिन का जश्न मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व को बढ़ावा देने के लिए चिड़ियाघर (Zoo) के समर्पण का एक प्रमाण है। वर्तमान में राष्ट्रीय प्राणी उद्यान में दो किस्मों के 12 बाघ हैं। इनमें से 7 सामान्य रंग के रॉयल बंगाल टाइगर (पैंथरा टाइग्रिस टाइग्रिस) और 5 सफेद बाघ (पैंथरा टाइग्रिस टाइग्रिस कलर_म्यूटेशन हैं।
इस अवसर पर पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के महानिदेशक और एसएस, चंद्र प्रकाश गोयल मुख्य अतिथि तथा केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के सदस्य सचिव डॉ. एस.के. शुक्ला विशेष अतिथि के रूप उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें – गुजरात में अमित शाह, जानिये कितना महत्वपूर्ण है उनका ये दौरा

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.