Earthquake के झटके से दिल्ली-एनसीआर के साथ ही नैनीताल भी हिला, इस देश में था सेंटर

उत्तरकाशी में भी दोपहर बाद भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिला आपदा परिचालन केंद्र उत्तरकाशी के अनुसार करीब दो बजकर 52 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए।

87

दिल्ली-एनसीआर के साथ ही 3 अक्टूबर को नैनीताल और उत्तरकाशी में भी धरती हिल गयी। यहां एक बड़े झटके के दौरान घरों की दूसरी-तीसरी मंजिलों पर मौजूद लोग घबरा गये और घरों से बाहर निकल आये। इस दौरान घरों के बाहर लगी लोहे की रेलिंग भी हिलती नजर आयी। हल्द्वानी में भी खासकर बहुमंजिला भवनों में लोग भूकंप के झटकों से हिल गये और घरों से नीचे आ गये।

पहला झटका अपराह्न दो बजकर 25 मिनट 52 सेकेंड पर आया
नेशनल सेंटर ऑफ सीस्मोलॉजी से के अनुसार पहला झटका अपराह्न दो बजकर 25 मिनट 52 सेकेंड पर धरती की 10 किलोमीटर की गहराई से रिक्टर स्केल पर 4.6 तीव्रता का आया। इसके बाद दूसरा सबसे बड़ा झटका 2 बजकर 51 मिनट 4 सेकेंड पर रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.2 थी। यह धरती के भीतर मात्र 5 किलोमीटर की गहराई से आया। इसके बाद भी दो और झटके 3 बजकर 6 मिनट 7 सेकेंड पर और 3 बजकर 19 मिनट 45 सेकेंड पर आए। यह धरती के भीतर 15 किलोमीटर की गहराई से 3.6 तीव्रता का भूकंप था जबकि 10 किलोमीटर की गहराई से 3.1 तीव्रता का भूकंप आया था। इनमें से 2 बजकर 51 मिनट 4 सेकेंड पर आये 6.2 तीव्रता के दूसरे भूकंप के झटके को नैनीताल में भी महसूस किया गया।

उत्तरकाशी में भी महसूस किए गए झटके
उत्तरकाशी में भी दोपहर बाद भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिला आपदा परिचालन केंद्र उत्तरकाशी के अनुसार करीब दो बजकर 52 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। इससे पहले नेपाल से लगे इलाकों में भी झटके महसूस किए गए थे, जिनका केंद्र नेपाल में बताया गया। हालांकि, कहीं से किसी तरह के नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.