मध्य प्रदेशः जानिये… होशंगाबाद का नया नाम क्यों रखा गया नर्मदापुरम!

मध्य प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने होशंगाबाद का नाम बदलकर नर्मदापुरम कर दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नर्मदा जयंती पर सरकार ने यह निर्णय लिया है।

पिछले काफी दिनों से होशंगाबाद के नाम बदलने की चर्चा थी। शासन-प्रशासन इस काम में लगा हुआ था। आखिरकार 19 फरवरी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा कर इस बारे में चल रही चर्चा पर विराम लगा दिया। सीएम ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी।

सीधी हादसे के बाद एक्शन में सीएम
बताया जा रहा है कि सीधी में हुए हादसे के बाद से सीएम काफी एक्टिव हैं और लगातार दौरा कर रहे हैं। इस दौरान नई घोषणाएं करने के साथ ही वे लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगालः भाजपा ने शुरू की इसलिए साइकिल यात्रा

नर्मदा जयंती पर उमड़ा जनसैलाब
नर्मदा जयंती के अवसर परल 19 फरवरी को आस्था का महासैलाब उमड़ पड़ा। तड़के 4 बजे से ही यहां श्रद्धालुओं की भीड़ लगनी शुरू हो गई थी। इस दौरान मां नर्मदा को 200 मीटर की चुनरी चढ़ाई गई। हर साल इसी तरह नर्मदा जयंती पर लाखों लोग घाटों पर जमा होते हैं।

सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम
नर्मदा जयंती पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया था। नर्मदा के सभी घाटों पर बोटिंग और भंडारों पर रोक लगा दी गई थी। साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से होमगार्ड के जवानों के आलावा एसडीआरएफ की भी तैनाती की गई थी। घाटों पर लाउडस्पीकर बजाने पर भी रोक लगाई गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here