समलैंगिक जोड़े ने Supreme Court के सामने की सगाई, विदेश में पढ़ें हैं दोनों

अनन्य कोटिया और उत्कर्ष सक्सेना नाम के ये दोनों जोड़े पेशे से सुप्रीम के वकील बताए जा रहे हैं। उनका कहना है कि जिस सुप्रीम कोर्ट से हमारे अधिकारों को स्वीकार करने की मांग खारिज हुई है, वहीं से हमारी लड़ाई जारी रहेगी।

53

अभी दो दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की तरफ से समलैंगिक विवाह (gay marriage) को कानूनी मान्यता देने से इनकार करने के बाद दो समलैंगिक जोड़ों (Gay couple) ने अपना विरोध प्रकट करते सुप्रीम कोर्ट के सामने प्रपोज कर एक दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई(Engagement) की और इसकी तस्वीर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पहले ट्विटर) पर भी शेयर किए। अनन्य कोटिया और उत्कर्ष सक्सेना नाम के ये दोनों जोड़े पेशे से सुप्रीम के वकील (Advocate) बताए जा रहे हैं। उनका कहना है कि जिस सुप्रीम कोर्ट से हमारे अधिकारों को स्वीकार करने की मांग खारिज हुई है, वहीं से हमारी लड़ाई जारी रहेगी।

विदेशों में हुई है दोनों की पढ़ाई
समलैंगिक विवाह की मंजूरी के लिए सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में ये दोनों भी शामिल थे। जानकारी के अनुसार अनन्य लंदन स्कूल आफ इकोनॉमिक्स से पीएचडी हैं, जबकि उत्कर्ष सक्सेना ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी हैं।

सुप्रीम कोर्ट का फैसला
सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने समलैंगिक विवाह को मान्यता देने से इनकार कर दिया है। समलैंगिक विवाह (gay marriage) पर चार जजों सीजेआई, जस्टिस संजय किशन कौल, जस्टिस एस रवींद्र भट्ट और जस्टिस पीएस नरसिम्हा, जस्टिस हिमा कोहली की बेंच ने बंटा हुआ फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि समलैंगिक साथ रह सकते हैं, लेकिन विवाह को मान्यता नहीं दी जा सकती। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि स्पेशल मैरिज एक्ट (Special Marriage Act) में बदलाव करने का अधिकार केवल संसद के पास है, इसलिए केंद्र सरकार को एलजीबीटीक्यू समुदाय (LGBTQ community) के साथ भेदभाव रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया।

यह भी पढ़ें – ICC World Cup: आज भारत का मुकाबला बांग्लादेश से, प्रशंसकों को हैं बड़ी उम्मीदें

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.