G7 Summit: इटली में पीएम मोदी से मुलाकात के बाद जस्टिन ट्रूडो ने कही यह बात

प्रधानमंत्री मोदी की कनाडा के प्रधानमंत्री से मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं।

94

G7 Summit: कनाडा (Canada) के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) ने 15 जून (शनिवार) को कहा कि बड़े पैमाने पर कूटनीतिक विवाद (Diplomatic dispute) के बीच भारत के साथ कुछ “बहुत महत्वपूर्ण मुद्दों” पर काम करने की प्रतिबद्धता है। जस्टिन ट्रूडो की यह टिप्पणी शुक्रवार को इटली में जी7 शिखर सम्मेलन (G7 Summit) के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से मुलाकात के एक दिन बाद आई है।

ट्रूडो ने संवाददाताओं से कहा, “मैं इस महत्वपूर्ण, संवेदनशील मुद्दे के विवरण में नहीं जाऊंगा, जिस पर हमें आगे काम करने की जरूरत है, लेकिन यह आने वाले समय में कुछ बहुत महत्वपूर्ण मुद्दों से निपटने के लिए साथ मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता है।”

यह भी पढ़ें- Startups: भारत बन रहा है विश्व की स्टार्टअप राजधानी, अंतरिक्ष जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हो रहे हैं उत्कृष्ट काम

प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात
प्रधानमंत्री मोदी की कनाडा के प्रधानमंत्री से मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं। कनाडा के अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की कनाडा की धरती पर हत्या में भारत का हाथ है। दोनों नेताओं की पिछले साल सितंबर में भारत द्वारा आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन में मुलाकात हुई थी।

यह भी पढ़ें- US Mass Shooting: अमेरिका में फिर मास शूटिंग, मिशिगन में 8 वर्षीय बच्चे समेत कई घायल

हरदीप सिंह निज्जर की हत्या
हरदीप सिंह निज्जर, एक कनाडाई नागरिक जो भारत में विभिन्न आतंकी आरोपों में वांछित था, की 18 जून, 2023 को सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई। भारत के खिलाफ कनाडा के आरोप ने एक बड़े विवाद को जन्म दिया और दोनों देशों ने एक-दूसरे के राजनयिकों को निष्कासित कर दिया। निज्जर की हत्या के सिलसिले में मई में कनाडा में तीन भारतीयों को गिरफ्तार किया गया था। भारत ने कहा है कि इस मामले में “राजनीतिक हित काम कर रहे हैं” और अपनी स्थिति को दोहराया कि देश में अलगाववादियों और चरमपंथियों को राजनीतिक स्थान दिया गया है।

यह भी पढ़ें- Reasi Terror Attack: आतंकी हमलों के मद्देनजर अमित शाह आज जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति की करेंगे समीक्षा

तीन भारतीयों तक सीमित
जबकि ट्रूडो ने गिरफ़्तारियों के बाद दावा किया था कि कनाडा “क़ानून का शासन करने वाला देश” है और हत्या की जाँच सिर्फ़ तीन भारतीयों तक सीमित नहीं है, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि दिल्ली की चेतावनियों के बावजूद, कनाडा संगठित अपराध से जुड़े लोगों को वीज़ा जारी कर रहा है। भारत इस बात पर ज़ोर देता रहा है कि कनाडा के साथ उसका “मुख्य मुद्दा” अलगाववादियों, आतंकवादियों और भारत विरोधी तत्वों को उस देश में जगह देना है।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.