video like और सबस्क्राइब के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी, दुबई से हो रहा संचालन, एक सदस्य गिरफ्तार

मामले के प्रारंभिक विश्लेषण में न्यूनतम 18 करोड़ का घोटाला सामने आया है। साथ ही गिरफ्तार आरोपित को आन्ध्र प्रदेश, असम, बिहार, दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, हिमाचल, केरल, ओडिशा, पंजाब, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, हरियाणा, छत्तीसगढ़ तलाश कर रही हैं।

76

एसटीएफ और साइबर पुलिस (cyber police)  ने यूट्यूब वीडियो लाइक (video like) और सबस्क्राइब (subscribe) करने के नाम पर धोखाधड़ी (Fraud) करने वाले ठगी गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार (arrested) किया है। इसे देश भर के 18 राज्यों की पुलिस अलग-अलग मामलों में तलाश कर रही हैं।

 देहरादून में 14,18,127 की धोखाधड़ी की शिकायत
वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने के लिए अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे हैं। इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून में शिकायतकर्ता सन्नी जैन ने भिन्न-2 ट्रांजेक्शन के माध्यम से कुल 14,18,127 की धोखाधड़ी होने की शिकायत की थी। इस पर अभियोग पंजीकृत पंजीकृत कर अभियुक्तों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए गठित टीम की गई थी।

अभियुक्त से तीन मोबाइल, सिम आदि रिकॉर्ड बरामद
तकनीकी जांच के बाद संदिग्ध अभियुक्त का लुधियाना पंजाब से सम्बन्ध होना पाया गया। इसमें टीम को सम्बन्धित स्थानों को रवाना किया गया। अभियुक्त हरमीत सिंह बेदी पुत्र बलजीत सिंह बेदी निवासी म.नं. 1855, सेक्टर 32A, चंडीगढ़ रोड थाना डिविजन नं. 07, लुधियाना, पंजाब को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त से घटना में प्रयुक्त 03 मोबाइल फोन मय सिम कार्ड, 01 अदद मैक बुक एयर, 1 यस बैंक का चेक और एक मोहर बरामद किये गये।

अपराध का तरीका, दुबई से संचालन
नामी गिरामी कम्पनियों की फर्जी वेबसाइट बनाकर आम जनता से व्हाट्सएप / ई-मेल / दूरभाष व अन्य सोशल साइटों के माध्यम से सम्पर्क कर स्वयं को कम्पनियों के एचआर/ कर्मचारी प्रतिदिन 3-8 हजार रुपये कमाने का प्रलोभन देकर जॉब ऑफर कर लिंक भेजकर टेलीग्राम एप डाउनलोड करवाकर और अपने टेलीग्राम ग्रुप में जोड़ना। तत्दपश्चात विभिन्न यू ट्यूब वीडियो लाइक एवं सब्स्क्राइब करने के टास्क देते हैं और उसमें निवेश कर अधिक लाभ कमाने का लालच देकर धोखाधड़ी से भिन्न-भिन्न लेन देन के माध्यम से धनराशि प्राप्त करते हैं। धोखाधड़ी से प्राप्त धनराशि को विभिन्न बैक खातों से प्राप्त कर उक्त धनराशि का प्रयोग करते हैं। उक्त कार्य के लिए फर्जी सिम, आईडी कार्ड और फर्जी खातों का प्रयोग कर अपराध किया जाता है। टेलीग्राम चैनल का संचालन दुबई से किया जा रहा है। आरोपित ने कबूला कि वह लोगों से दोस्ती करता था और फर्जी अकाउंट खोलता था। पी2पी क्रिप्टो ट्रेडिंग में विवादित पैसा भी लगाया।

एक और राष्ट्रीय घोटाला का खुलासा
मामले के प्रारंभिक विश्लेषण में न्यूनतम 18 करोड़ का घोटाला सामने आया है। साथ ही गिरफ्तार आरोपित को आन्ध्र प्रदेश, असम, बिहार, दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, हिमाचल, केरल, ओडिशा, पंजाब, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, हरियाणा, छत्तीसगढ़ तलाश कर रही हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने प्रलोभन में न आएं। वे फर्जी निवेश ऑफर जैसे यूट्यूब सब्सक्राइब, टेलीग्राम आधारित निवेश वेबसाइट ऑफर में निवेश न करें। शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें। वित्तीय साइबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें।

यह भी पढ़ें – Afghanistan: भूकंप से भारी तबाही, 2000 से अधिक की मौत

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.