राहत की सांस की बाट जोहती दिल्ली, नहीं कम हो रहा हवा का जहरिलापन

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का कहना है कि अगर बरसात होती है तो वायु प्रदूषण की स्थिति में सुधार हो सकता है।

332

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आसपास के महानगरों के लोगों की सांसों पर जहरीली हवा का पहरा हटा नहीं है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज (बुधवार) सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) का स्तर 460 रहा। सुबह पंजाबी बाग का एक्यूआई 460, आनंद विहार का 452 और आरकेपुरम का 433 दर्ज किया गया। सोमवार सुबह इसी समय दिल्ली का औसतन स्तर 453 था।ॉ

स्कूल 10 नवंबर तक के लिए बंद कर दिए गए हैं
बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि मंगलवार को प्रदूषण में मामूली सुधार के बाद स्थिति में अधिक बदलाव नहीं हुआ है। वायु प्रदूषण की गंभीर होती स्थिति को देखते हुए गौतमबद्ध नगर में नौवीं तक के स्कूल 10 नवंबर और गाजियाबाद में अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। पूर्वानुमान है कि अगले छह दिनों में दिल्ली की आबोहवा बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में पहुंच सकती है।

यह भी पढ़ें – AUS vs AFG: ग्लेन मैक्सवेल ने जड़ा दोहरा शतक, ऑस्ट्रेलिया ने जीती हारी हुई बाजी – 

कल (मंगलवार) दिल्ली-एनसीआर में ग्रेटर नोएडा सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा। यहां का एक्यूआई 457 दर्ज किया गया। दूसरे नंबर पर दिल्ली रहा। यहां का एक्यूआई 395 रहा। इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में अगले कुछ दिनों में बारिश का अनुमान जताया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का कहना है कि अगर बरसात होती है तो वायु प्रदूषण की स्थिति में सुधार हो सकता है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.