Cyclone Remal: तेजी से बढ़ रहा है चक्रवात ‘रेमल’, पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में मचा सकता है बड़ी तबाही!

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने रविवार को सोशल मीडिया साइट X पर तूफान 'रेमल' को लेकर अपडेट दिया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अपने पोस्ट में कहा है कि अगले 6 घंटों में 'रेमल' एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा।

328

बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में उठे चक्रवार्ती तूफान रेमल (Cyclone Remal) के आज आधीरात पश्चिम बंगाल (West Bengal) के तटीय क्षेत्रों से टकराने की संभावना है। अलीपुर स्थित मौसम विज्ञान (Meteorology) विभाग के क्षेत्रीय मुख्यालय ने रविवार सुबह जारी बयान में बताया गया है कि इसके प्रभाव से शनिवार को राजधानी कोलकाता (Kolkata) में 4.2 मिली मीटर बारिश रिकार्ड की गई। हालांकि तापमान में कोई गिरावट नहीं आई। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 27.3 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 37 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

विभाग के अनुसार, चक्रवात के प्रभाव से आज सारा दिन बारिश होगी। राजधानी कोलकाता में प्रति घंटे दो से तीन सेंटीमीटर बारिश रिकार्ड की जा सकती है और 70 से 80 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इससे जान-माल के नुकसान की आशंका है। कोलकाता के अलावा पश्चिम बंगाल के समुद्र तटीय जिले हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर में नुकसान की आशंका सबसे अधिक है। इन इलाकों में 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज आंधी तूफान के साथ भारी बारिश हो सकती है।

यह भी पढ़ें- IT Raid: नासिक में आयकर विभाग का छापा, करोड़ों की संपत्ति का खुलासा

कोलकाता पुलिस ने भी कंट्रोल रूम बनाया
विभाग की चेतावनी के बाद राज्य आपदा राहत बल के साथ ही एनडीआरएफ की टीम बचाव अभियान के लिए बंगाल पहुंच चुकी है। एनडीआरएफ की 12 टुकड़ी पश्चिम बंगाल पहुंची हैं। भारतीय वायु सेना, नेवी और कोस्ट गार्ड भी राहत और बचाव के लिए कमर कर चुके हैं। कोलकाता पुलिस ने भी कंट्रोल रूम बनाया है। राज्य सचिवालय नवान्न में भी कंट्रोल रूम शुरू किया गया है।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.