UP: 2024 में ‘रोपवे इनेबल्ड सिटी’ होगा वाराणसी! जानिये, योगी सरकार की क्या है योजना

काशी के यातायात को रफ़्तार देने के लिए रोप-वे का निर्माण तेजी से किया जा रहा है।

91

बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी की यातायात को सुगम और सुचारू बनाने के लिए देश का पहला रोपवे वाराणसी में 2024 तक चलने लगेगा। वाराणसी को रोपवे इनेबल्ड बनाने वाली इस परियोजना के तहत पहले चरण का निर्माण कुल दो सेक्शन में किया जा रहा है। पहले सेक्शन के निर्माण के बाद पर्यटक रथयात्रा और दूसरे सेक्शन के निर्माण के बाद गोदौलिया तक की यात्रा कर पाने में सक्षम हो जाएंगे। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट के संचालन के लिए 807 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले रोपवे परियोजना की नींव अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रखे थे।

Maharashtra: शिंदे सरकार का बड़ा फैसला, लड़कियों के सशक्तिकरण के लिए कैबिनेट ने पारित की ‘ये’ योजना

पहला सेक्शन मार्च तक होगा पूरा
काशी के यातायात को रफ़्तार देने के लिए रोप-वे का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। मार्च 2024 तक पहले सेक्शन का निर्माण कार्य पूरा होना प्रस्तावित है, जिसका ट्रायल जुलाई तक चलेगा। कैंट स्टेशन से चलने पर रथयात्रा तीसरा प्लेटफार्म होगा। यात्री कैंट रेलवे स्टेशन से बिना वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण के रथयात्रा तक की यात्रा लगभग 10 मिनट में तय कर सकेंगे।

कुल 5 स्टेशन होंगे
वाराणसी कैंट स्टेशन से शुरू होकर गोदौलिया चौराहे तक कुल पांच स्टेशन होंगे। जिसमे कैंट रेलवे स्टेशन, काशी विद्यापीठ, रथयात्रा, गिरजाघर और गोदौलिया चौराहे पर स्टेशन बनाया जाएगा। रोपवे की कुल दूरी 3.85 किलोमीटर है, जो करीब 16 मिनट में तय होगी।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.