लोको पायलट और गार्ड ने बीच रास्ते में ही छोड़ दी ट्रेन, यात्रियों ने किया हंगामा

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में एक रेलवे स्टेशन पर ड्राइवर और गार्ड गाड़ी खड़ी करके चले गए।

789

कल्पना कीजिए कि एक ट्रेन यात्रियों (Passengers) से खचाखच भरी है, लेकिन तभी ड्राइवर (Driver) बीच रास्ते में यह कहकर मना कर देता है कि वह अब ट्रेन (Train) नहीं चलाएगा। सोचिए यात्रियों का क्या होगा। ये कोई किस्सा नहीं बल्कि हकीकत है। सहरसा (Saharsa) से दिल्ली (Delhi) जा रही स्पेशल ट्रेन (Special Train) को लोको पायलट (Loco Pilot) ने बुढ़वल रेलवे स्टेशन (Burhwal Railway Station) पर रोक दिया। मालगाड़ी पार होने के बाद यात्री ट्रेन चलने का इंतजार करते रहे लेकिन ड्राइवर ट्रेन को बीच में ही छोड़कर चला गया। जब एक घंटा बीत गया तो यात्रियों को चिंता होने लगी। रेलवे स्टेशन से उन्हें जवाब मिला कि ड्राइवर (Driver) और गार्ड (Guard) की ड्यूटी खत्म हो गई है, इसलिए उन्हें जाना होगा।

यह देख यात्री नाराज हो गये। उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया। यह जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंची तो गोंडा से चालक और गार्ड भेजे गए। करीब तीन घंटे तक यात्री रेलवे स्टेशन पर भूखे-प्यासे बैठे रहे। ट्रेन करीब 4.50 बजे रवाना हुई।

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश: इन जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना

यात्रियों ने स्टेशन पर मचाया हंगामा
यात्री हंगामा करने लगे तो स्टेशन मास्टर इंजन के पास पहुंचे। जब वे लोको पायलट के इंजन की ओर बढ़े तो उन्हें पता चला कि ड्राइवर जा चुका है। उन्होंने बताया कि ड्राइवर और गार्ड की तबीयत ठीक नहीं है। वे कार को आगे नहीं ले जा सकते।

गोंडा से ड्राइवर आया और फिर ट्रेन रवाना हुई
दोपहर करीब 2.20 बजे अधीक्षक को चालक के फरार होने की सूचना मिली। स्टेशन मास्टर ने गोंडा को फोन किया, जिसके बाद ड्राइवर और गार्ड आए। ट्रेन शाम 4:50 बजे आगे बढ़ी। ट्रेन इतनी देर से खड़ी थी कि दुकानों पर मिलने वाला पानी और खाने-पीने का सामान खत्म हो गया। काफी देर तक यात्री परेशान रहे। किसी तरह अधिकारियों की सूझबूझ से बड़ा बवाल टल गया।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.