दिल्ली-एनसीआर में अब भी बरकरार है सांसों पर संकट, इतना पहुंच गया AQI

आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में रहा। AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स) 500 के पार पहुंच गया। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली में गंभीर श्रेणी के साथ एक्यूआई 459 दर्ज किया गया।

491

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi-NCR) गैस चैंबर बनी हुई है। दीपावली से पहले हवा तेजी से जहरीली हो रही है। सांसों और आंखों पर संकट मंडरा रहा है। उम्मीद थी कानून का डंडा चलने के बाद सरकार के प्रयास से अगले दिन स्थिति में कुछ सुधार होगा। मगर नहीं हुआ।

AQI पहुंचा 500 के पार
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) ने आज, 04 अक्टूबर को सुबह चार बजे आंकड़े जारी किए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में रहा। AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स) 500 के पार पहुंच गया। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली में गंभीर श्रेणी के साथ एक्यूआई 459 दर्ज किया गया।

फिलहाल प्रदूषण से खास राहत की संभावना नहीं
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार आज एयर क्वालिटी इंडेक्स में थोड़ा सुधार होगा लेकिन अगले तीन दिनों तक हवा गंभीर श्रेणी में बनी रहेगी। इसलिए फिलहाल प्रदूषण से खास राहत मिलने की संभावना नहीं है। इस वजह से एक-दो दिन में ग्रैप के चौथे चरण के प्रतिबंध भी लागू किए जा सकते हैं। इस बीच वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग की उप समिति ने स्थिति की समीक्षा की है। आयोग का कहना है कि दिल्ली का औसत एयर इंडेक्स 368 रहा। एक समय दोपहर 12 बजे एयर इंडेक्स 475 पहुंच गया था। इसके बाद एयर इंडेक्स में थोड़ा सुधार हुआ। इस वजह से शाम पांच बजे एयर इंडेक्स 456 था। फिलहाल ग्रैप के तीसरे चरण के प्रतिबंध लागू रहेंगे। जरूरत पड़ने पर चौथे चरण के प्रतिबंध लागू किए जाएंगे।

इससे पहले शुक्रवार सुबह पांच बजे के आंकड़े भी डरावने रहे। इन आंकड़ों मुताबिक दिल्ली में गंभीर श्रेणी के साथ एक्यूआई 459 बना हुआ था। नोएडा में यह स्तर 418 था। गाजियाबाद का एक्यूआई सुबह 363 दर्ज किया गया था। गुरुवार शाम पांच बजे दिल्ली का औसत एक्यूआई 402 था। इसे वायु गुणवत्ता सूचकांक का सबसे खतरनाक स्तर माना जाता है।

यह भी पढ़ें – पाकिस्तानी सेना के 14 सैनिकों की मौत, सच्चाई बताने से भी भाग रही पाक आर्मी

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.