Lotus Mahal Hampi: जानिए हम्पी के कमल महल के बारे में

लोटस महल देखे बिना हम्पी की यात्रा अधूरी है। यह बेहतरीन वास्तुशिल्प से डिजाइन किए गए महलों में से एक है, जो इसकी कमल जैसी दिखने वाली संरचना से विशिष्ट रूप से पहचाना जाता है।

95

Lotus Mahal Hampi: लोटस महल (Lotus Mahal), जिसे कमल महल (Kamal Mahal) या चित्रंगी महल (Chitrangi Mahal) भी कहा जाता है, एक ऐतिहासिक महल है जो विजयनगर साम्राज्य (Vijayanagara Empire) के समय का है। कर्नाटक (Karnataka) में हम्पी (Hampi) विरासत स्थल (Heritage Site) का एक महत्वपूर्ण अवशेष, यह अपनी आश्चर्यजनक वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है।

कमल महल की विशेषताएं : इस संरचना के दो स्तर हैं जो काफी आकर्षक दिखाई देते है, नीचे खुले मंडप और ऊपर बालकनी हैं। वास्तुकला की हिंदू और मुस्लिम शैलियों के मिश्रण को उजागर करते हुए, महल का नाम इसके सुंदर, ज्यामितीय रूप से व्यवस्थित नुकीले मेहराबों से लिया गया है जो सूर्य की ओर खुलने वाले कमल की पंखुड़ियों के समान है। इस प्रकार से इसका नाम पड़ा कमल महल।

लोटस महल के बारे में त्वरित तथ्य :
समय : सप्ताह के सभी दिन सुबह 8:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक खुला रहता है
वयस्कों के लिए प्रवेश शुल्क : INR. भारतीयों के लिए 10 और विदेशी पर्यटकों के लिए 250 रुपये
बच्चों के लिए प्रवेश शुल्क : 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए प्रवेश निःशुल्क है
फोटोग्राफी : अनुमति है और कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगेगा
भ्रमण की अवधि : लगभग 2 घंटे
घूमने का सबसे अच्छा समय : नवंबर से फरवरी तक

कैसे पहुंचे हम्पी के कमल महल में ?

यह भी पढ़े : Namo App: पीएम ने कार्यकर्ताओं को बताताया भाजपा का चेहरा, इस बात को प्राथमिकता देने का किया आग्रह

हवाई जहाज (Flight) :
उड़ान योजना के तहत आप जिंदल विजयनगर हवाई अड्डे (हम्पी से 38 किलोमीटर) से बेंगलुरु और हैदराबाद के बीच दैनिक उड़ानें उपलब्ध रहती है। हुबली हवाई अड्डे के लिए भी उड़ानें उपलब्ध हैं जो हम्पी से सिर्फ 150 किलोमीटर दूर है।
ट्रेन (Train) :
सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन होसपेटे से जोकि केवल हम्पी से 12 किलोमीटर दुरी पर है आप उसका उपयोग कर हम्पी जा सकते है। हुबली और गुंतकल जंक्शन से होसापेटे के लिए हर दिन ट्रैन रहती है जोकि आप इस्तेमाल कर बहुत ही आसानी से पहुंच सकते है।
सड़क (Road) :
विजयनगर जिला राज्य राजमार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग के माध्यम से बस द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। कर्नाटक के सभी प्रमुख शहरों के लिए बल्लारी और होसापेट तक बसें उपलब्ध हैं। ये भी एक मार्ग है जिसके जरिए आप पहुंच सकते है हम्पी।

अब जब आपको सारी जानकारी मिल चुकी है तो किस बात की है देरी ? तैयार हो जाइए हम्पी में घूमने के लिए।

यह भी देखें :

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.