Defence News: सेना और वायुसेना के बेड़े में शामिल होंगे हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर, HAL को मिला टेंडर

देश के हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टरों में से 90 हेलीकॉप्टर थलसेना को और 66 हेलीकॉप्टर वायुसेना को मिलने जा रहे हैं। सरकार के इस कदम से रक्षा क्षेत्र में मेड इन इंडिया को मजबूती मिलेगी।

114

भारत सरकार (Government of India) मेक इन इंडिया (Make in India) के जरिए रक्षा क्षेत्र (Defence Sector) में आत्मनिर्भर (Self-Reliant) बनने की लगातार कोशिश कर रही है। इस संबंध में सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (Hindustan Aeronautics Limited) को रक्षा मंत्रालय से 156 हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर खरीदने (Combat Helicopters) के लिए 45 हजार करोड़ रुपये का टेंडर मिला है।

कंपनी ने कहा है कि रक्षा मंत्रालय ने 156 एलसीएच की खरीद के लिए प्रस्ताव निवेदन (आएफपी) जारी कर दिया है। इनमें से 90 हेलिकॉप्टर थल सेना के लिए और 66 हेलिकॉप्टर भारतीय वायुसेना के लिए है।

यह भी पढ़ें – PM Modi Varanasi Visit: पीएम मोदी आज आएंगे वाराणसी, किसानों को देंगे बड़ी सौगात

मिली जानकारी के अनुसार, टेंडर की लागत 45 हजार करोड़ से ज्यादा होने की संभावना है। इस साल की शुरुआत में रक्षा मंत्रालय ने 97 स्वदेशी एलसीए मार्क 1ए लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए एचएएल को 65,000 करोड़ रुपये से अधिक का टेंडर जारी किया था।

आत्मनिर्भर भारत का एक शानदार प्रमाण
एलसीएच को प्रचंड के नाम से भी जाना जाता है। प्रचंड 5,000 मीटर (16,400 फीट) की ऊंचाई पर उतरने और उड़ान भरने वाले दुनिया के एकमात्र हेलीकॉप्टर हैं। इसे सियाचिन ग्लेशियर और पूर्वी लद्दाख के ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात किया जा सकता है। यह हवा से जमीन और हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों को मार गिराने में भी सक्षम है।

देखें यह वीडियो – 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.