उत्तर प्रदेशः योगी सरकार के बजट में क्या है खास…. जानने के लिए पढ़ें ये खबर

उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री ने एक घंटा 40 मिनट में बजट पेश किया। 2020-21 में प्रदेश का बजट 5.12 लाख करोड़ रुपए का था। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष का बजट 38 हजार करोड़ रपए अधिक का है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 22 फरवरी को विधानमंडल में भारी भरकम बजट पेश किया। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने विधानभवन में अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश किया। उन्होंने विधानभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित की मंजूरी के बाद बजट का भाषण शुरू किया।

वित्त मंत्री खन्ना ने यह बजट एक घंटा 40 मिनट में पेश किया। बता दें कि 2020-21 में प्रदेश का बजट 5.12 लाख करोड़ रुपए का था। था। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष का बजट 38 हजार करोड़ रुपए अधिक का है। इस वर्ष 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया।

 वन ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने की दिशा में अहम कदम
वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा यह बजट वित्तीय वर्ष 2021-22 में उत्तर प्रदेश का समग्र विकास सुनिश्चित करने के साथ ही राज्य की अर्थव्यवस्था को वन ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने की दिशा में एक अहम कदम है। वित्त मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण काल में कई ऐतिहासिक काम हुए हैं। सरकार ने 54 लाख लोगों को भरण-पोषण भत्ता दिया। इसके साथ ही मनरेगा में 29.58 करोड़ मानवदिवस सृजित किया गया, जबकि 40 लाख प्रवासी श्रमिकों को रोडवेज ने अपने घर भेजा। उन्होंने कहा कि 2020 पूरे विश्व के लिए चुनौतीपूर्ण रहा। इसमें प्रदेश की चिकित्सा के साथ ही पुलिस विभाग ने बड़े स्तर पर काम किया।

ये भी पढ़ेंः जानिये… पुडुचेरी में कांग्रेस की सरकार गिराने में मोदी, बेदी और हिंदी का क्या है रोल?

स्वास्थ पर विशेष ध्यान
स्वास्थ के लिए 2950 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में नई लैब की स्थापना की जाएगी। इसके साथ ही नौ मेडिकल कॉलजे का निर्माण किया जा रहा है।

किसानों पर मेहरबान योगी सरकार
ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना की जाएगी। इसके लिए 100 करोड़ रुपए क प्रावधान किया गया है। किसानों को मुफ्त पानी क सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। किसानों को रियायतती दर पर कर्ज दिया जाएगा। प्रदेश के किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए शुरू किए गए मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के लिए 600 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। सरकार कर्जमाफी के साथ ही पेंशन की घोषणा पहले ही कर चुकी है। इसके साथ ही किसानों को दो करोड़ 40 लाख रुपए की सम्मान निधि भी दी गई। किसानों के सस्ते लोन के लिए बजट में 400 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

ये भी पढ़ेंः भाजयुमो नेता पामेला गोस्वामी की गिरफ्तारी राजनैतिक साजिश तो नहीं?… जानिये इस खबर में

बढ़ाई जाएगी अयोध्या की कनेक्टिविटी
अयोध्या की कनेक्टिविटी बढ़ाई जाएगी। सरकार ने बजट में ग्रेटर नोएडा के जेवर एयरपोर्ट के लिए दो हजार करोड़ रुपया तथा अयोध्या के मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट के लिए 101 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। इसके साथ ही चित्रकूट और सोनभद्र एयरपोर्ट 2021 में सक्रिय हो जाएंगे। अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा होगा। एयरपोर्ट के साथ ही अयोध्या के विकास के लिए 140 करोड़ रुपए दिया जाएगा। लखनऊ में 50 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल का विकास किया जाएगा, जबकि वाराणसी- गोरखपुर में मेट्रो के लिए 100 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

 किसको कितना मिला

  • विभिन्न जिलों में अधिवक्ता चैंबर के लिए 20 करोड़
  • युवा अधिवक्ताओं के कल्याण के लिए 5 करोड़ का फंड
  • अटल पेय जल योजना के लिए 2000 करोड़ रुपए का प्रस्ताव
  • आरोग्य जल के लिए 22 करोड़ रुपए प्रस्तावित
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए 1107 करोड़ रुपए का प्रस्ताव
  • कन्या सुमंगल योजना के लिए 1200 करोड़
  • महिला शक्ति केंद्रो के लिए 32 करोड़ रुपए
  • गांवों में स्टेडियम के लए 25 करोड़ रुपए
  • संस्कृत स्कूलों में फ्री छात्रावास की सुविधा
  • बीमा के लिए 600 करोड़ रुपए का प्रावधान
  • अधिवक्ता चैंबर के लिए 20 करोड़ रुपए
  • प्रदेश की नहरों के लिए 700 करोड़ रुपए
  • डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के लिए 32 करोड़
  • निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों के लिए 950 करोड़
  • चित्रकूट में पर्यटन के लिए 20 करोड़
  • वाराणसी में पर्यटन के लिए 100 करोड़
  • सीएम जन आरोग्य योजना के लिए 142 करोड़ रुपए का प्रावधान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here