क्या है पवार का डीपी चेंज गेम?

केंद्र सरकार के कषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में जहां किसान संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन जारी है, वहीं महाराष्ट्र में एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने भी किसानों को गोलबंद करना शुरू कर दिया है।

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में चल रहे किसानों के आंदोलन को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक सोशल मीडिया के माध्यम से पहुंचाने का आह्वान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार ने किया है। पवार ने किसानों के आंदोलन को समर्थन देने के लिए खुद भी फेसबुक पेज का इस्तेमाल किया है। इसके साथ ही उन्होंंने अपना डिसप्ले भी चेंज कर दिया है।

ये भी पढ़ेंः ट्रैक्टर रैली पर आया बड़ा निर्णय…जानें 10 पॉइंट्स में

किसानों को गोलबंद करने की कोशिश
केंद्र सरकार के कषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में जहां किसान संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन जारी है, वहीं महाराष्ट्र में एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने भी किसानों को गोलबंद करना शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्होंने संयुक्त शेतकरी कामगार मोर्चा के बैनर तले राज्य के 100 से भी ज्यादा किसान संगठनों को एक साथ लाने की कोशिश शुरू कर दी है। इसके साथ ही उन्होंने 24 जनवरी को जहां आंदोलन किया, वहीं 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस पर भी आंदोलन करने का ऐलान किया है। साथ ही 25 जनवरी को आजाद मैदान में होनेवाली सभा में भी भी वे किसानों को संंबोधित करेंगे।

ये खबर मराठी में भी पढ़ेंः शेतकरी आंदोलनाला पाठिंबा द्या! शरद पवारांची ‘सोशल’ साद

दो महीने से विरोध प्रदर्शन जारी
दिल्ली में किसानों द्वारा दो महीने से ज्यादा समय से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। लेकिन केंद्र ने भी आंदोलकारी किसानों को स्पष्ट रुप से कह दिया है कि कृषि बिल किसी भी हालत में वापस नहीं लिए जाएंगे। हालांकि केंद्र ने इसे डेढ़ साल तक स्थगित करने का ऑफर दिया है। लेकिन किसान इसके बावजूद आंदोलन खत्म करने को तैयार नहीं हैं। अब महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी सरकार ने भी आंदोलन को खुलकर समर्थन देने का ऐलान किया है। बता दें कि महाविकास आघाड़ी सरकार में शिवसेना के साथ ही कांग्रेस और एनसीपी भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here