निर्दोष मुक्ति पर भुजबल का शायराना अंदाज… जानिये क्या बोले?

महाराष्ट्र सदन में भ्रष्टाचार के आरोप को लेकर चले प्रकरणों में से एक में सत्र न्यायालय ने निर्णय दिया है।

सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं… महाराष्ट्र के अन्न व नागरी आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल जिस महाराष्ट्र सदन भ्रष्टाचार के प्रकरण में सवा वर्ष से अधिक काल तक जेल में रहे उससे संबंधित एक मामले में उन्हें निर्दोश मुक्ति मिल गई। इससे खुश छगन भुजबल ने एक प्रेस वार्ता की। जिसमें उन्होंने कहा कि हम बेहद संयम से इस निर्णय को स्वीकार करते हैं।

ये भी पढ़ें – महाराष्ट्र सदन घोटाला: भुजबल परिवार समेत छह लोगों को बड़ी राहत, दमानिया देंगी चुनौती

भुजबल खुश हुए

साजिशें लाखों बनती है मेरी हस्ती मिटाने के लिए, परंतु जनता का आशीर्वाद है कि उन्हें सफल नहीं होने देता।

संयम पूर्वक हम इस यश को स्वीकार करते हैं, किसी के लिए द्वेष या शिकायत नहीं है। महाराष्ट्र सदन को इतने अच्छे से बनाया गया है कि उसका लाभ आठ वर्षों से देश के कई राज्य ले रहे हैं। इसकी ऐवज में ठेकेदार को 100 करोड़ रुपए का फ्लोर स्पेस इंडेक्स (एफएसआई) देने की बात सामने आई थी। परंतु, एक इंच जमीन, पैसा या एफएसआई ठेकेदार को नहीं दिया गया है। इसके अलावा मुंबई के अंधेरी स्थित क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (अंधेरी आरटीओ) का निर्माण भी बहुत अच्छे से किया गया है। तीसरा प्रकरण है हाइमाउंट के निर्माण का जो लगभग पूरा हो गया है।

इस प्रकरण में हम पर 800 करोड़ रुपए के भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया था। इसी प्रकरण में हमें सवा दो साल से अधिक काल तक जेल में रहना पड़ा था। परंतु, जब पैसे या लेनदेन हुआ ही नहीं तो आरोप कैसा। प्रवर्तन निदेशालय की जांच महाराष्ट्र सदन में हुए 800 करोड़ रुपए के नेलदेन के आरोप से संबंधित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here