कर्नाटक : ‘धर्मे’ के मौत की हो उच्चस्तरीय जांच!

एसएल धर्मे गौडा जनता दल सेक्युलर के विधायक थे। उनका शव रेलवे ट्रैक के किनारे कदूर तहसील के गुणसगारा में मिला था। वे मूल रूप से वहीं के रहनेवाले थे।

कर्नाटक के उप-सभापति एसएल धर्मे गौडा की आत्महत्या के मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग उठने लगी है। इस मांग पर अब लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला ने भी बल दिया है। उन्होंने इसकी जांच स्वतंत्र जांच एजेंसी के जरिये कराए जाने की मांग की है।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने एसएल धर्मे गौडा की मौत पर दुख प्रकट करते हुए लिखा है कि,

विधान परिषद में उनके साथ घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी। ये लोकतंत्र पर गंभीर हमला है। यह आवश्यक है कि इस स्वतंत्र जांच एजेंसी से इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए। हम सभी की ये जिम्मेदारी है कि हम वैधानिक प्रक्रियाओं की रक्षा करें और उसकी प्रतिष्ठा को बनाए रखें।

ये थी घटना

एसएल धर्मे गौडा जनता दल सेक्युलर के विधायक थे। उनका शव रेलवे ट्रैक के किनारे कदूर तहसील के गुणसगारा में मिला था। वे मूल रूप से वहीं के रहनेवाले थे। एसएल घर्मे गौडा सोमवार को सक्करयपट्टना के अपने फार्म हाउस से ड्राइवर के साथ निकले थे। लेकिन जब वे नहीं लौटे तो खोजबीन शुरू हुई। पुलिस को उनका शव रेलवे ट्रैक के किनारे मिला था।

ये भी पढ़ें – शूटर… इधर से इन उधर से आउट!

ये भी पढ़ें – कांग्रेसी विधायकों का कर’नाटक’!

सूत्रों के अनुसार एसएल धर्मे गौडा के शव के पास पड़े सुसाइड नोट में विधान परिषद में हुई घटनाओं का उल्लेख है। इस मामले मे अरसिकेरे पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। गौडा चर्चा में उस समय आए थे जब विधान परिषद में उप-सभापति की कुर्सी पर विराजमान रहने के बीच कांग्रेस के सदस्यों ने उन्हें खींचकर उठाया और ढकेल कर बाहर कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here