Lok Sabha Elections: अमित शाह ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना, बोले- “लोग बड़ी शराब की बोतलें देखेंगे…”

उन्हें दिल्ली शराब नीति घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था।

357

Lok Sabha Elections: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने 29 मई (आज) दावा किया कि आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) (आप) मौजूदा लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में दिल्ली में एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि दिल्ली शराब नीति घोटाला (Delhi liquor policy scam) उन्हें परेशान करता रहेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा दिल्ली में सभी सातों लोकसभा सीटों पर भारी बहुमत से जीत हासिल करेगी। आप वहां अपना खाता भी नहीं खोल पाएगी। जब भी लोग अरविंद केजरीवाल को चुनाव प्रचार करते देखेंगे तो उनके सामने शराब की एक बड़ी बोतल दिखाई देगी। दिल्ली आबकारी नीति घोटाला उन्हें परेशान करता रहेगा।’’

यह भी पढ़ें- Illegal Mining Case: अवैध खनन मामले में ED की बड़ी करवाई, पंजाब के 13 ठिकानों पर मारा छापा

2 जून तक जमानत ख़त्म
अरविंद केजरीवाल लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए 2 जून तक जमानत पर हैं। उन्हें दिल्ली शराब नीति घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था। जांच एजेंसी का मानना ​​है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अब रद्द हो चुकी नीति का मसौदा तैयार करने और शराब लाइसेंस के बदले रिश्वत या किकबैक मांगने में अहम भूमिका निभाई थी। एजेंसी ने दावा किया है कि आप को 100 करोड़ रुपये की किकबैक मिली थी जिसका इस्तेमाल गोवा और पंजाब चुनाव अभियानों के लिए किया गया था।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections: अंतिम चरण के ठीक पहले अमित शाह ने की सीटों की भविष्यवाणी!

400 पार पर अमित शाह का दावा
यह पूछे जाने पर कि क्या “अबकी बार 400 पार” सिर्फ एक नारा था या तथ्यों पर आधारित एक लक्ष्य था, श्री शाह ने जवाब दिया, “जब हमने पूर्ण बहुमत के नारे पर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2014 का चुनाव जीता था, तो दिल्ली के कई राजनीतिक विश्लेषकों ने कहा था कि यह संभव नहीं है। लेकिन हमें पूर्ण बहुमत मिला। फिर, 2019 में, जब हमने ‘300 प्लस’ का नारा दिया, तो लोगों ने कहा कि यह संभव नहीं है। लोग इस बार भी यही कह रहे हैं। लेकिन मुझे लगता है कि वे इस बार ‘400 पार’ होने से पहले अगले चुनाव में हमारी बात पर विश्वास करेंगे।”

यह भी पढ़ें- Delhi Liquor Scam Case: केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, अदालत ने नहीं दी राहत

दिल्ली की सातों सीटें
दिल्ली में भीषण गर्मी के बीच 25 मई को छठे चरण के चुनाव हुए। 2014 और 2019 के चुनावों में भाजपा ने दिल्ली की सभी सातों सीटें जीती थीं और लगातार तीसरी बार क्लीन स्वीप करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। विपक्षी दल आप और कांग्रेस चार-तीन सीटों के फार्मूले के तहत दिल्ली में चुनाव लड़ रहे हैं। दिल्ली में यह पहला लोकसभा चुनाव है जिसमें आप और कांग्रेस ने संयुक्त उम्मीदवार उतारे हैं।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.