Illegal Mining Case: अवैध खनन मामले में ED की बड़ी करवाई, पंजाब के 13 ठिकानों पर मारा छापा

सूत्रों ने बताया कि रूपनगर (रोपड़) जिले में कुल 13 परिसरों की तलाशी ली जा रही है, क्योंकि यह पाया गया कि भोला मामले में ईडी द्वारा पहले जब्त की गई जमीन पर "अवैध" खनन किया जा रहा था।

398

Illegal Mining Case: आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने 29 मई (बुधवार) को मुख्य आरोपी जगदीश सिंह (Jagdish Singh) उर्फ ​​भोला से जुड़े मादक पदार्थ से जुड़े धन शोधन मामले (money laundering cases) के तहत पंजाब (Punjab) में कई स्थानों पर तलाशी ली।

सूत्रों ने बताया कि रूपनगर (रोपड़) जिले में कुल 13 परिसरों की तलाशी ली जा रही है, क्योंकि यह पाया गया कि भोला मामले में ईडी द्वारा पहले जब्त की गई जमीन पर “अवैध” खनन किया जा रहा था।

यह भी पढ़ें- Pune Porsche Accident Case: डॉक्टरों ने किशोर ड्राइवर का ब्लड सैंपल कैसे बदला? जानें पूरा घटनाक्रम

नसीबचंद और श्री राम क्रशर शामिल
सूत्रों ने बताया कि इस कथित अवैध खनन मामले में कुछ आरोपियों में नसीबचंद और श्री राम क्रशर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान अब तक करीब 3 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की गई है। ड्रग्स मनी लॉन्ड्रिंग का मामला करोड़ों रुपये के सिंथेटिक नारकोटिक्स रैकेट से जुड़ा है, जिसका पंजाब में 2013-14 के दौरान खुलासा हुआ था।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections: नरेन्द्र मोदी सहित भाजपा के इन स्टार प्रचारकों के कार्यक्रम जानने के लिए पढ़ें

पंजाब पुलिस द्वारा मामला दर्ज
ईडी ने पंजाब पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर मामला दर्ज किया था। इस मामले को आमतौर पर भोला ड्रग केस के नाम से जाना जाता है, क्योंकि इसमें कथित “किंगपिन”, पहलवान से पुलिसकर्मी और फिर “ड्रग माफिया” बने जगदीश सिंह उर्फ ​​भोला की पहचान की गई है। भोला को जनवरी 2014 में ईडी ने गिरफ्तार किया था और यह मामला वर्तमान में पंजाब में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के विशेष न्यायालय में सुनवाई के लिए है।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.