केरल चुनावः सीपीएम को ऐसे लगा जोर का झटका!

केरल में 23 फरवरी को 98 सीपीएम सदस्य भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

केरल में इस वर्ष होनेवाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनैतिक सरगर्मियां तेज होने लगी हैं। इसी कड़ी में नेताओं का दलबदल भी शुरू हो गया है। 23 फरवरी को 98 सीपीएम सदस्य भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भाजपा में इनका स्वागत किया। राज्य में अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं।

तिरुवनंतपुरम में भाजााप नेता वीवी राजेश ने इस बारे में बताया कि सीपीएम के साथ ही कांग्रेस के भी कई कार्यकर्ता भाजपा में शामिल होना चाहते हैं। सही वक्त पर उन्हें पार्टी में प्रवेश दिया जाएगा।

प्रह्लाद जोशी ने की चुनाव पर चर्चा
इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने पार्टी कार्यकर्ताओं और एनडीए सदस्यों से मुलाकात की तथा विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि एलडीए और यूडीएफ ने भ्रष्टाचार, परिवारवाद और घोटालों से केरल को बर्बाद कर दिया है। अगर केरल को आत्मिर्भर बनाना है तो इन दोनों फ्रंट को हटाना होगा।

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल चुनावः राजनीति में सब कुछ जायज है!

ऐसे साधा निशाना
केरल में मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में लेफ्ट डेमोकक्रेटिक फ्रंट सरकार है। जोशी ने कहा कि हमारे सामने दो सरकारों का उदाहरण है। एक दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रोल मॉडल है, तो दूसरी केरल में यूडीएफ या एलडीएफ की है। पहला उदाहरण है कि कैसे शासन चलाना चाहिए और दूसरा उदाहरण है कि कैसे लोगों को धोखा देना चाहिए।

राहुल गांधी अभिनेता बनने की कोशिश कर रहे हैं
केंद्रीय मंत्री ने किसानों के समर्थन में वायनाड में कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा ट्रैक्टर रैली निकाले जाने पर कहा कि वह ट्रैक्टर पर अभिनेता बनने की कोशिश कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here