यूपीः कासगंज हमले का मुख्य आरोपी ऐसे हुआ ढेर!

कासगंज में पुलिस टीम पर हमले के बाद ऐक्शन में आई पुलिस ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी एलकार को 10 फरवरी की सुबह एनकाउंटर में मार गिराया।

उत्तर प्रदेश के कासगंज मामले का मुख्य आरोपी पुलिस एनकाउंटर में ढेर हो गया है। कासगंज में पुलिस टीम पर हमले के बाद ऐक्शन में आई पुलिस ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी एलकार को 10 फरवरी की सुबह एनकाउंटर में मार गिराया। अब पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश युद्ध स्तर पर कर रही है। वह लगातार अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है। फिलहाल इस हमले का एक अन्य आरोपी मोती अभी भी फरार है। वह मारे गए आरोपी एलकार का भाई बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक मारा गया अपराधी एलकार हिस्ट्रीशिटर है और कई मामलों में वह जेल की हवा खा चुका है। एनकाउंटर सिढपुरा थाना क्षेत्र के नगला ढीमर के पास काली नदी के किनारे हुई। जवाबी कार्रवाई में एलकार मारा गया।

डीएम सीपी सिंह ने दी घटना की जानकारी
इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए कासगंज के डीएम सीपी सिंह ने बताया कि एक दरोगा और एक सिपाही कासगंज के नगला ढीमर गांव में अपराधी की तलाश में गए थे। उसी समय अपराधियों ने उन पर हमला कर दिया। इस घटना में सिपाही देवेंद्र ने अपनी जान गंवा दी।

अपराधियों को पकड़ने गई थी पुलिस
बता दें कि 9 फरवरी की रात कासगंज में अपराधियों को पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर शराब माफिया ने हमला कर दिया। इस हमले में एक सिपाही देवेंद्र की मौत हो गई, जबकि दरोगा की हालत गंभीर बनी हुई है। फिलहाल उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

ये भी पढ़ेंः अंधेरी में सिलिंडर धमाका!

सीएम योगी का कड़ा फरमान
इस घटना के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। उसके बाद कासगंज का ये गांव छावनी में तब्दील हो गया है। इस गांव में चार जिलों अलीगढ़, एटा, आगरा और हाथरस की पुलिस फोर्स तैनाती की गई है। पुलिस का कहना है कि अपराधियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।

मृतक सिपाही के पिता ने कहा, ‘बदला चाहिए’
इस बीच मारे गए सिपाही देवेंद्र के पिता ने कहा, ‘मेरा एक ही बेटा था। 2015 में वह पुलिस में भर्ती हुआ था। 2017 में उसकी शदी हुई थी। बेटा शहीद हुआ है, इसका बदला चाहिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here