Ujjain: उज्जैन के स्कूल में राम नाम लेने पर प्रतिबन्ध, बजरंग दल ने उठाया यह कदम

170

Ujjain: उज्जैन (Ujjain) के सरकारी ज्ञानोदय स्कूल (Government Gyanodaya School) से एक हैरान करने वाली खबर सामने आरही है। स्कूल प्रशासन पर स्कगूल में राम बोलने, तिलक-कलावा लगाने पर बैन कागने का आरोप है। उज्जैन के नागझिरी थाना क्षेत्र के ग्राम लालपुर स्थित इस स्कूल के खिलाफ स्थानीय बजरंग दल (Bajrang Dal) के कार्यकर्ता और पदाधिकारी पुलिस की मौजूदगी में विद्यालय परिसर में जय श्री राम के नारे लगाए और जमीन पर बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ किया। बजरंग दल के एक पदाधिकारी ने शिक्षकों का हवका देते हुए बतया की स्कूल के सभी शिक्षक और छात्र होस्टल वार्डन प्रभारी अधीक्षक गिरधारी मालवीय (Girdhari Malviya) से प्रताड़ित हैं।

हॉस्टल वार्डन पर आरोप
होस्टल वार्डन प्रभारी अधीक्षक गिरधारी मालवीय पर आरोप है की वो छात्रों को प्रताड़ित करते हैं। इस करम में वह सनातन धर्म से जुड़े नरो जैसे ‘जय श्री राम’ पर पाबन्दी, तिलक लगाने व कलावा पहनने पर पाबन्दी लगते हैं। छात्रों के मुताबिक वार्डन छात्रों से बौद्ध धर्म अपनाने का दबाओ बनाते हैं इसी कड़ी में वार्डन ने छात्रों को 22 जनवरी प्रभु श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा के दिन छात्रों को शोभायात्रा की अनुमति भी नहीं दी। छात्रों के मुताबिक वार्डन 3 महीना पहले आईं हैं और उनके बहकावे में आकर कुछ छात्र देवताओ को गलियां देते हैं।

Varanasi: ज्ञानवापी परिसर की एएसआई सर्वे रिपोर्ट को लेकर कोर्ट ने दिया यह आदेश

स्कूल में बिगड़ा माहौल
स्कूल में बिगड़े माहौल के बाद तनाव की स्थिति बानी हुई है। नागझिरी थाना के पुलिस ने स्थिती संभाला है। कलेक्टर के निर्देश पर प्रशासनिक टीम भी पहुंची। प्रशासनिक व पुलिस की दोनों ने कुछ कहने से इंकार कर दिया। एसपी गुरु प्रसाद पाराशर ने कहा, ‘मुझे इसकी जानकारी नहीं है. मैं पता करता हूं’। एसडीएम अर्थ जैन, तहसीलदार शेफाली जैन व अन्य अधिकारियों ने अधिकार क्षेत्र न होने का हवाला देते हुए कुछ नहीं कहा।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.