Uttar Pradesh: लखनऊ और कानपुर में स्थापित होंगी तीन रक्षा परियोजनाएं, जानें क्या है योगी सरकार की योजना

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण रक्षा मंत्रालय की रक्षा परीक्षण अवसंरचना योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में तीन इकाइयां स्थापित करेगा।

98

रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) की डिफेंस टेस्टिंग इंफ्रास्ट्रक्चर स्कीम (Defence Testing Infrastructure Scheme) के तहत उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Uttar Pradesh Expressways Industrial Development Authority) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में तीन इकाइयां स्थापित करेगा। कानपुर (Kanpur) और लखनऊ (Lucknow) में स्थापित होने वाली ये इकाइयां रक्षा क्षेत्र के बुनियादी ढांचे के परीक्षण की बुनियादी कमियों को दूर करने में मददगार होंगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यूपीईआईडीए रक्षा मंत्रालय की डिफेंस टेस्टिंग इंफ्रास्ट्रक्चर स्कीम के तहत लखनऊ और कानपुर में तीन परियोजनाएं स्थापित करेगा। ये तीनों डीटीआईएस रक्षा प्रौद्योगिकी के बुनियादी ढांचे के परीक्षण की बुनियादी कमियों को दूर करने में मददगार होंगी। इन पर 117 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए जाएंगे। परियोजना के लिए केंद्र सरकार 75 प्रतिशत और राज्य सरकार 25 प्रतिशत अनुदान देगी।

यह भी पढ़ें – Budget: पीएम मोदी आज आर्थिक सुधारों पर करेंगे चर्चा, जानेंगे आम बजट पर विशेषज्ञों की राय

परीक्षण में मिलेगी मदद
डीटीआईएस के जरिए नई परीक्षण तकनीक के लिए तकनीकी रिसर्च एंड डेवलपमेंट का काम किया जाएगा। इसके साथ ही परीक्षण सुविधा में तकनीकी उन्नयन के लिए सिफारिशें और मार्गदर्शन भी दिया जाएगा। रक्षा उत्पादन में गुणवत्ता और मानकों को सुनिश्चित करना भी अहम होगा। इसका उद्देश्य देश में स्वदेशी रक्षा उत्पादन को बढ़ावा देना है, खासकर एमएसएमई और स्टार्टअप की भागीदारी पर ध्यान केंद्रित करते हुए यह रक्षा परीक्षण बुनियादी ढांचे की कमी को दूर करने का एक बड़ा माध्यम साबित होगा।

यूपीडीआईसी शुरू करेगा
केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के तहत ये तीन डीटीआई योजनाएं शुरू की जानी हैं। इसके लिए यूपीडीए को कार्यान्वयन प्राधिकरण नियुक्त किया गया है। यूपी में तीन डीटीआई योजनाओं के तहत भारतीय अंतरिक्ष मिशन के लिए रणनीतिक साझेदार मिधानी लखनऊ में यांत्रिक और सामग्री परीक्षण सुविधाएं प्रदान करेगा, जिस पर 40 करोड़ रुपये से अधिक खर्च होंगे।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.