इनामी बदमाश लक्खा सिधाना ने किया दिल्ली में रैली निकालने का ऐलान!

गैंगस्टर सिधाना ने वीडियो में कहा है कि बठिंडा में 23 फरवरी को निकाली गई उसकी रैली सफल हो गई और अब दिल्ली में रैली को सफल बनाना है। हालांकि उसने इसके लिए कोई दिन सुनिश्चित नहीं की है।

कृषि कानूनों को रद्द करने और यूएसपी पर कानून बनाने की मांग को लेकर देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों का आंदोलन 25 फरवरी को 92वें दिन में प्रवेश कर गया। इस बीच 26 जनवरी को लाल किला हिंसा मामले का इनामी आरोपी लक्खा सिधाना ने केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस को चुनौती देते हुए ऐलान किया है कि वह बठिंडा में रैली करने के बाद अब दिल्ली में रैली करेगा। सिधाना ने एक वीडियो जारी कर यह ऐलान किया है।

गैंगस्टर सिधाना ने वीडियो में कहा है कि बठिंडा में 23 फरवरी को निकाली गई उसकी रैली सफल हो गई और अब दिल्ली में रैली को सफल बनाना है। हालांकि उसने इसके लिए कोई दिन सुनिश्चित नहीं की है।

दीप सिद्धू ने लिए 7 किसानों के नाम
इस बीच दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद लाल किला हिंसा के आरोपित पंजाबी एक्टर दीप सिद्धु ने फिर एक वीडियो अपलोड कर सात किसान नेताओं पर उपद्रव कराने का आरोप लगाया है।

ये है पीछे की कहानी
दिल्ली हिंसा के इनामी आरोपी लक्खा सिधाना को 23 फरवरी को बठिंडा में एक किसान रैली में देखा गया था। दिल्ली पुलिस ने उस पर एक लाख रुपए के इनाम की घोषणा की है। वह उस रैली में अपने समर्थकों के साथ देखा गया। हालांकि उस समय पंजाब पुलिस मौके पर मौजूद थी, लेकिन उसने कोई एक्शन नहीं लिया और तमाशबीन बनी रही।

दिल्ली हिंसा के बाद से है फरार
बता दें कि गणतंत्र दिवस पर किसान आंदोलन के दौरान देश की राजधानी दिल्ली के लाल किले पर हुई हिंसा के बाद से फरार चल रहे इनामी आरोपी लखबीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना ने एक वीडियो जारी किया था। सोशल मीडिया पर जारी इस वीडियो में सिधाना ने आरोप लगाया था कि कि केंद्र सरकार किसानों के खिलाफ झूठे मामले दर्ज कर रही है और उन्हें डराकर आंदोलन वापस लेने का दबाव बना रही है।

ये भी पढ़ेंः  पेट्रोल- डीजल की कीमतों पर ऐसे लगाम लगाना चाहती है केंद्र सरकार!

टिकैत पर भी साधा था निशाना
सिधाना ने वीडियो में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत को भी निशाना बनाया था। बिना नाम लिए उसने टिकैत पर हमला बोलते हुए कहा था कि कुछ लोगों ने किसान आंदोलन को हाईजैक कर लिया है। उसने कहा था कि इस आंदोलन पर कब्जा कर चुके लोग पंजाबी भी नहीं हैं।

आंदोलन जारी रहने का ऐलान
वीडियो में किसान आंदोलन तेज करने की धमकी देते हुए सिधाना ने कहा था कि ये आंदोलन कृषि कानूनों को वापस लिए बिना समाप्त नहीं होगा। पिछले सात महीनों से जारी इस आंदोलन को लेकर उसने कहा था कि ये आंदोलन आगे भी जारी रहेगा।

23 फरवरी को सभा का ऐलान
सिधाना ने कहा था कि 23 फरवरी को बठिंडा के मेहराज में एक किसान सभा का आयोजन किया जाएगा। उसने इस सभा में ज्यादा से ज्यादा लोगों के पहुंचने की अपील की थी। यह वीडियो रात में किसी टेंट में शूट किया गया था। कुछ लोग वहां सोए हुए थे और वहांं बैठकर सिधाना वीडियो बना रहा था।

ये भी पढ़ेंः दिल्ली हिंसाः ऐसे गिरफ्तार हुए दो और आरोपी!

दिल्ली पुलिस कर रही है तलाश
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी को लाल किला में हुई हिंसा को लेकर पंजाब के गैंगस्टर लक्खा सिधाना की सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस ने इस पर एक लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है।

कौन है लक्खा सिंह सिधाना?
लक्खा सिंह सिधाना पर सिर्फ पंजाब में 26 आपराधिक मामले दर्ज हैं। उनमें हत्या, अपहरण, लूट, फिरौती जैसे मामले भी शामिल हैं। इसके साथ ही आर्म्स एक्ट के तहत केस भी चल रहा है। वह जेल भी जा चुका है लेकिन कई मामलों में सबूत नही मिलने या गवाह न होने के कारण वो जेल से बाहर आ गया था।

छवि सुधारने की कोशिश
गैंगस्टर सिधाना किसान आंदोलन से अपनी छवि सुधारने में लगा है। वह खुद को सामाजिक कार्याकर्ता साबित करना चाहता है। पंजाब में अंग्रेजी साइन बोर्ड के विरोध में आंदोलन करने पर उसकी गिरफ्तारी भी हो चुकी है। इतना ही नहीं, पंजाब में मनप्रीत बादल द्वारा स्थापित पार्टी के टिकट पर सिधाना चुनाव मैदान में भी उतरा था।

कबड्डी का अच्छा खिलाड़ी
बताया जाता है कि वह कभी कबड्डी का अच्छा खिलाड़ी था और उसका असली नाम लखवीर सिंह सिधाना है लेकिन अपराध की दुनिया में कदम रखने के बाद उसने अपना असली नाम और शौक दोनों को छोड़ दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here