Pratapgarh: गोवंश तस्करों को सामाजिक संगठनों ने ऐसे सिखाया सबक

प्रतापगढ़ में सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं को कुछ वाहनों में गोवंश ले जाने की सूचना मिली थी। इस पर सूरजपोल चौराहे पर लगभग आठ वाहनों को रोककर उनकी तलाशी ली गई, तो उनमें गोवंश भरा हुआ था।

63

प्रतापगढ़ शहर के सूरजपोल चौराहे पर मंगलवार को आठ वाहनों में गोवंश को कत्लखाने ले जाने की सूचना मिलने पर सामाजिक संगठनों सहित कई लोगों ने वाहनों को रोक लिया और हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस और लोगों के बीच धक्का-मुक्की हुई। इस दौरान कुछ लोगों ने वाहनों के शीशे भी तोड़ दिए। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया।

गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई
प्रतापगढ़ में सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं को कुछ वाहनों में गोवंश ले जाने की सूचना मिली थी। इस पर सूरजपोल चौराहे पर लगभग आठ वाहनों को रोककर उनकी तलाशी ली गई, तो उनमें गोवंश भरा हुआ था। कत्ल खाने ले जाए जाने की आशंका में कार्यकर्ताओं की ट्रक चालकों से कहासुनी हुई। सूचना पर कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची। इसी दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई। इस दौरान अज्ञात लोगों द्वारा वाहनों पर पत्थर फेंके गए जिससे कुछ वाहनों के शीशे टूट गए। सूरजपोल चौराहे पर करीब एक घंटे तक मुख्य मार्ग एनएच पर दोनों और लंबा जाम लगा।जाम को हटाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने इस दौरान कई बार हल्का बल प्रयोग भी किया।

मध्य प्रदेश ले जाए जा रहे थे गोवंश
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भागचंद मीणा ने बताया कि कोतवाल को सूचना मिली कि ट्रक में गोवंश मध्य प्रदेश की ओर ले जा रहे हैं। एसएचओ मौके पर पहुंचे। वहां कुछ लोगों ने गाड़िया रुकवा रखी थीं और उनमें गोवंश भरा हुआ था। इसपर सभी गाड़ियों को थाने लाया गया है। आठ गाड़ियां है, उनमें 108 गोवंश हैं। इन आठों गाड़ियों के आठों ड्राइवरों को डिटेन किया गया है। अब इसके सम्बंध में जो भी इनके पास दस्तावेज हैं, परमिट है या नहीं व अन्य जानकारी ली जाएगी।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.