Parliament attack: ललित झा पर ऐसे कस रहा है पुलिस का शिकंजा

पुलिस को पता चला है कि कोलकाता में रहने के दौरान झा ने बड़ाबाजार इलाके में एक कमरा किराए पर लिया था। घर के मालिक के अनुसार, झा ऑनलाइन किराया चुकाता है।

476

Kolkata: पश्चिम बंगाल पुलिस (West Bengal Police) ने संसद की सुरक्षा में सेंध(Breach in parliament security) लगाने वालों में शामिल ललित झा (Lalit Jha) के परिचितों से पूछताछ की है। इसके निलाक्ष आइच नामक युवक(A young man named Nilaksh Aich) से भी पूछताछ हुई है जिसके फोन पर ललित जाने संसद में हंगामे का वीडियो बनाकर भेजा था। पश्चिम बंगाल के एक प्रतिष्ठित कॉलेज में स्नातक द्वितीय वर्ष का छात्र आइच कथित तौर पर सुरक्षा उल्लंघन मामले के छह आरोपितों में से एक ललित झा का परिचित था, जो अभी भी फरार है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा(Delhi Police Crime Branch) को सूचना मिली थी कि लोकसभा में सुरक्षा में चूक का एक वीडियो 13 दिसंबर को व्हाट्सएप के माध्यम(Through whatsapp) से आइच के मोबाइल फोन(mobile phone) पर भेजा गया था, जिसके कुछ घंटों बाद पुलिस 14 दिसंबर को उत्तर 24 परगना जिले के हालिसहर स्थित आइच के आवास पर पहुंची।

सामाजिक गतिविधियों से जुड़ा है आइच
पूछताछ के दौरान आइच ने पुलिस को बताया कि वह छात्र होने के साथ-साथ सामाजिक गतिविधियों से भी जुड़ा है। आइच ने कथित तौर पर पुलिस को बताया कि वह एक एनजीओ से जुड़ा है और उस एनजीओ के माध्यम से ही उसकी झा से जान-पहचान हुई थी। आइच ने पुलिस को यह भी बताया कि एक समय झा सामाजिक गतिविधियों के लिए कोलकाता में भी रह रहा था और उसी दौरान उसकी झा से कई बार मुलाकात हुई थी।

कौन है ललित झा?
पुलिस को पता चला है कि कोलकाता में रहने के दौरान झा ने बड़ाबाजार इलाके में एक कमरा किराए पर लिया था। घर के मालिक के अनुसार, झा ऑनलाइन किराया चुकाता है। पड़ोसियों ने पुलिस को बताया है कि झा बेहद अंतर्मुखी व्यक्ति है और वह उनके साथ कम ही बातचीत करता था। कोलकाता में पुलिस को इस आशंका से सतर्क कर दिया गया है कि झा, जो फिलहाल फरार है, इस जगह से अपने पुराने जुड़ाव को देखते हुए शहर में शरण लेने की कोशिश कर सकता है। पुलिस उन अन्य लोगों का पता लगाने की पूरी कोशिश कर रही है, जो झा के कोलकाता प्रवास के दौरान उसके परिचित थे। बुधवार को लोकसभा में सुरक्षा में सेंध लगाने की योजना बनाने और उसे अंजाम देने में छह लोग शामिल थे।

Prime Minister मोदी के जनसभा स्थल का मुख्यमंत्री ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिये ये निर्देश

उनमें से दो -सागर शर्मा और मनोरंजन डी. ने दर्शक दीर्घा से लोकसभा कक्ष में कूदने के बाद पीले धुएं का गुब्बारा छोड़ा था। उसी पल सदन में मौजूद दो सांसदों ने दोनों को दबोच लिया। गिरोह में शामिल नीलम आज़ाद और अमोल शिंदे ने संसद के बाहर नारे लगाए, जबकि पांचवें व्यक्ति, जिसकी पहचान विक्की शर्मा के रूप में हुई, ने आरोपित को उसके गुरुग्राम स्थित घर पर रसद मुहैया कराई थी। छठा आरोपित ललित झा कथित तौर पर संसद भवन से चारों आरोपितों के मोबाइल फोन लेकर भाग गया था। अब तक पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, एकमात्र झा अभी भी फरार है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.