NEET Paper Leak: ‘सॉल्वर गैंग’ का सदस्य गिरफ्तार, जले हुए स्क्रैप से मूल पेपर के 68 प्रश्न बरामद

बिहार पुलिस ने रविवार को झारखंड के देवघर से जिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया है, उनमें बलदेव कुमार भी शामिल है। ईओयू ने दावा किया है कि कुमार गिरोह के सरगना संजीव कुमार का सहयोगी है।

81

NEET Paper Leak: बिहार पुलिस (Bihar Police) की आर्थिक अपराध इकाई (Economic Offences Unit) (ईओयू), जो राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट)-यूजी में पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई को सौंपने से पहले कर रही थी, ने रविवार को खुलासा किया कि उसने “सॉल्वर गैंग” के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है, जिसने 5 जून को निर्धारित परीक्षा से एक दिन पहले हल किया हुआ प्रश्नपत्र प्राप्त किया था।

बिहार पुलिस ने रविवार को झारखंड के देवघर से जिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया है, उनमें बलदेव कुमार भी शामिल है। ईओयू ने दावा किया है कि कुमार गिरोह के सरगना संजीव कुमार का सहयोगी है।

यह भी पढ़ें- NEET Paper Leak: NEET पेपर लीक में बड़ा खुलासा, हजारीबाग में प्रश्नपत्र से छेड़छाड़ के मिले सबूत

सॉल्वर गैंग का नेटवर्क
‘सॉल्वर गैंग’ रवि अत्री के नेतृत्व वाला एक कथित नेटवर्क है। यह गिरोह सोशल मीडिया सहित विभिन्न माध्यमों से सॉल्वर प्रश्नपत्र प्राप्त करने और उचित मूल्य चुकाने के इच्छुक छात्रों तक पहुंचाने में माहिर है। इंडियन एक्सप्रेस ने ईओयू के हवाले से बताया, “उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर, 05.05.2024 को आयोजित नीट यूजी-2024 परीक्षा के हल किए गए प्रश्नपत्र इस गिरोह को मोबाइल पर प्राप्त हुए थे।”

यह भी पढ़ें- JP Nadda: राज्यसभा में सदन के नेता के रूप में पीयूष गोयल की इस नेता ने ली जगह, जानें कौन है वो?

सीबीआई करेगी जांच
ईओयू ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “बलदेव कुमार को 5 मई की सुबह अपने मोबाइल पर हल किए गए प्रश्नपत्र की पीडीएफ फाइल मिली थी। इसकी प्रतियां स्कूल में रखे वाई-फाई प्रिंटर से निकाली गई थीं। उम्मीदवारों के समूह बनाए गए थे और उन्हें उन्हें याद करने के लिए कहा गया था।” 17 मई को पटना पुलिस से जांच का जिम्मा संभालने वाले ईओयू ने घोषणा की कि मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया जाएगा। इससे पहले, 5 मई को पटना पुलिस ने कथित पेपर लीक के लिए 13 लोगों को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ें- Tamil Nadu Hooch Tragedy: जेपी नड्डा ने कल्लाकुरिची हूच त्रासदी पर कांग्रेस की चुप्पी को लेकर साधा निशाना

परमजीत सिंह उर्फ ​​बिट्टू शामिल
नालंदा जिले के बिहार शरीफ का रहने वाला बलदेव कुमार पटना में किराए के मकान में रह रहा था। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार किए गए अन्य “सॉल्वर गैंग के सदस्यों” में पटना के अगमकुआं का मुकेश कुमार, नालंदा के छबीलापुर का पंकू कुमार, नालंदा के एकंगरसराय का राजीव कुमार उर्फ ​​करू और नालंदा के छबीलापुर का परमजीत सिंह उर्फ ​​बिट्टू शामिल हैं। झारखंड के हजारीबाग में ओएसिस स्कूल मुख्य संदिग्ध केंद्र है, जबकि शहर में सेंट जेवियर्स स्कूल, डीएवी पब्लिक स्कूल, होली क्रॉस स्कूल और विवेकानंद सेंट्रल स्कूल की भी जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें- 18th Lok Sabha: सांसद कैसे लेते हैं शपथ? अगर कोई सांसद जेल में हो तो क्या होगा?

ओएसिस संदेह सूची
हजारीबाग के एक पुलिस अधिकारी ने एचटी को बताया, “ईओयू की टीम को संदेह है कि पेपर उन पांच स्कूलों में से एक से लीक हुआ है, जहां नीट-यूजी आयोजित किया गया था और वे इस दिशा में जांच कर रहे हैं। ये स्कूल हैं ओएसिस स्कूल, सेंट जेवियर्स स्कूल, डीएवी पब्लिक स्कूल, होली क्रॉस स्कूल और हजारीबाग में विवेकानंद सेंट्रल स्कूल। ओएसिस संदेह सूची में सबसे ऊपर है, लेकिन अभी तक कुछ भी ठोस नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें- Mandarmani Hotels : 8 सबसे बेहतरीन मंदारमणि होटलें जो आपको पता होनी चाहिए

परिणाम विसंगतियों के आरोप
हजारीबाग में ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल ने जांच दल को बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (जो परीक्षा आयोजित करती है) द्वारा अधिकृत वरिष्ठ अधिकारियों की सहमति मिलने के बाद डिजिटल लॉक (जहां प्रश्नपत्र रखे गए थे) खोले गए थे।” ईओयू ने इस साल की मेडिकल प्रवेश परीक्षा में पेपर लीक, कदाचार, परीक्षा केंद्रों पर हेरफेर और परिणाम विसंगतियों के आरोपों से जुड़े मामले से संबंधित 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार किए गए एक व्यक्ति ने लीक हुआ प्रश्नपत्र प्राप्त करने की बात स्वीकार की है।

यह भी पढ़ें- JP Nadda: राज्यसभा में सदन के नेता के रूप में पीयूष गोयल की इस नेता ने ली जगह, जानें कौन है वो?

सीरियल कोड से संबंधित वांछित रिपोर्ट
इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, ईओयू ने प्रश्नपत्र की कथित प्रतियों के जले हुए अवशेषों से लगभग 200 में से 68 प्रश्न बरामद किए। ईओयू ने एक बयान में कहा, “लर्न बॉयज हॉस्टल एंड प्ले स्कूल में जब्त किए गए आधे जले हुए प्रश्नपत्र से संबंधित संदर्भ प्रश्नपत्र की एक प्रति एनटीए द्वारा उपलब्ध कराई गई है। 20 जून, 2024 की शाम को एनटीए से जब्त किए गए आधे जले हुए प्रश्नपत्र के सीरियल कोड से संबंधित वांछित रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद, यह स्पष्ट हो गया कि नीट यूजी-2024 परीक्षा के लिए लर्न बॉयज हॉस्टल एंड प्ले स्कूल, रामकृष्ण नगर से बरामद किया गया आधा जला हुआ प्रश्नपत्र झारखंड के हजारीबाग जिले के ओएसिस स्कूल कल्लू चौक, मंडई रोड के परीक्षा केंद्र का है। इसकी पुष्टि हो गई है। सत्यापन के क्रम में प्रथम दृष्टया हजारीबाग के संबंधित परीक्षा केंद्र से प्रश्नपत्र की पैकिंग में संदिग्ध पॉलीबैग, संबंधित अभ्यर्थी से बरामद मूल प्रश्नपत्र की पैकिंग तथा संबंधित पैकिंग ट्रंक में प्रारंभिक जांच में, इन सभी के साथ छेड़छाड़ की गई पाई गई है तथा इन सभी संदिग्ध साक्ष्यों को विधिवत जब्त कर लिया गया है।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community

Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.