Scotland में भी खालिस्तान समर्थकों का भारतीय उच्चायुक्त से दुर्व्यवहार

ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोराईस्वामी स्कॉटलैंड के सबसे बड़े शहर ग्लासगो में स्थित गुरुद्वारे में गुरुद्वारा समिति के साथ बैठक में भाग लेने आए थे। बैठक के दौरान खालिस्तान से जुड़ी गतिविधियों को लेकर भी चर्चा होनी थी।

75

खालिस्तान समर्थकों (Khalistan supporters) के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। कनाडा (Canada) में अराजक माहौल बनाने के बाद अब स्कॉटलैंड (Scotland) में खालिस्तान समर्थकों ने ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त (Indian High Commissioner) को एक गुरुद्वारे (gurudwara) में जाने से रोक दिया। भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए ब्रिटिश विदेश मंत्रालय व पुलिस के सामने यह मसला उठाया है।

गुरुद्वारा समिति की बैठक में होना था शामिल
जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोराईस्वामी स्कॉटलैंड के सबसे बड़े शहर ग्लासगो में स्थित गुरुद्वारे में गुरुद्वारा समिति के साथ बैठक में भाग लेने आए थे। बैठक के दौरान खालिस्तान से जुड़ी गतिविधियों को लेकर भी चर्चा होनी थी। वे जैसे ही गुरुद्वारे के पास पहुंचे, गुरुद्वारे के बाहर ही खालिस्तान समर्थकों ने उनकी कार को घेर लिया और उन्हें अंदर नहीं जाने दिया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे घटना के एक वीडियो में खालिस्तान समर्थक गुरुद्वारे के बाहर भारतीय उच्चायुक्त दोराईस्वामी को घेरे दिख रहे हैं और उन्हें गुरुद्वारे में जाने से रोका जा रहा है। इसके बाद दोराईस्वामी ने कोई बहस नहीं की और वे कार में बैठकर वहां से चले गए। उनके जाने के बाद भी खालिस्तान समर्थक उन्हें दोबारा कभी वहां ना आने की हिदायत देते रहे।

भारत ने जताई आपत्ति
भारतीय उच्चायुक्त को रोकने वालों में शामिल एक खालिस्तानी समर्थक ने कहा, हमें पता चला था कि भारत के राजदूत यहां आने वाले हैं। हमारे रोके जाने पर वो कार में बैठकर वापस चले गए। गुरुद्वारे में आने वाले भारत सरकार के किसी भी शख्स के साथ यही होगा, चाहे वो किसी भी बहाने से यहां आ रहे हों। हमें पता है कि वो क्या करना चाह रहे हैं। इस घटना के बाद भारत ने ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय के सामने पूरे मामले पर आपत्ति जताई है। साथ ही पुलिस में भी शिकायत दर्ज करई गई है।

यह भी पढ़ें –  हिंदू विरोधी मानसिकता से बाज आए तमिलनाडु सरकार- VHP

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.