चार से सात लाख रुपये में बिकी Municipality में नौकरियां, पढ़ें पूरा मामला

ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि शिक्षक नियुक्ति की तरह ही नगर पालिकाओं की नियुक्ति में भी बड़े पैमाने पर धनराशि की वसूली हुई है। पता चला है कि नगर पालिकाओं में नियुक्ति के लिए विभिन्न पदों के लिए रेट चार्ट भी बनाया गया था।

80

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार की तरह नगर पालिकाओं (Municipality) की नियुक्ति भी कम बड़ा भ्रष्टाचार (Corruption) नहीं है। ममता कैबिनेट में मंत्री रथिन घोष (Rathin Ghosh) से एक दिन पहले ईडी (Ed) के अधिकारियों ने इस मामले को लेकर 19 घंटे तक पूछताछ की है। रात 12:00 बजे के बाद ईडी अधिकारी उनके घर से बाहर निकले हैं।

चार से सात लाख रुपये में बिकी नौकरियां
06 अक्टूबर को ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि शिक्षक नियुक्ति की तरह ही नगर पालिकाओं की नियुक्ति में भी बड़े पैमाने पर धनराशि की वसूली हुई है। पता चला है कि नगर पालिकाओं में नियुक्ति के लिए विभिन्न पदों के लिए रेट चार्ट भी बनाया गया था। ईडी सूत्रों के मुताबिक, नौकरियां (Jobs) विभिन्न नगर पालिकाओं में चार से सात लाख रुपये की दर से बेची गईं।

ग्रुप डी और सी ग्रुप की नौकरियों की कीमत
इनमें नगरपालिका कर्मचारी, कार चालक, क्लीनर, नगरपालिका समूह डी जैसी नौकरियों की कीमत न्यूनतम चार लाख रुपये थी जबकि ग्रुप सी की नौकरियों की कीमत न्यूनतम सात लाख रुपये रखी गई थी। इस मामले की जांच में और अधिक जानकारी सामने आ सकती है।

यह भी पढ़ें – RBI का त्योहार पर तोहफा, रेपो रेट में कोई बढ़ोतरी नहीं, जानें किसे होगा ज्यादा फायदा

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.