लाल किला में नौ दिसंबर से India Art, आर्किटेक्चर एंड डिजाइन बीनाले प्रदर्शनी

केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी (meenakshi lekhi) ने कहा कि इस अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी से भारत की कला, वास्तुकला के क्षेत्र में समृद्ध और इतिहास के साथ देश दुनिया की कला एवं परंपराओं को जानने समझने का मौका मिलेगा।

95

 दिल्ली (Delhi) के लाल किला में संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में नौ से 15 दिसंबर तक इंडिया आर्ट (India Art), आर्किटेक्चर एंड डिजाइन प्रदर्शनी बीनाले-2023 (Biennale-2023) आयोजित की जाएगी। यह प्रदर्शनी (exhibition) हर दिन अलग-अलग थीम पर आधारित होगी। इसमें ऐतिहासिक अलंकृत दरवाजों, प्राचीन भव्य मंदिरों, ऐतिहासिक बावड़ी, समृद्ध वस्त्र डिजाइन, भारत की वास्तुकला में महिलाओं की भूमिका, आजाद भारत की आधुनिक कला, और कलात्मक बगीचे की वास्तुकला को शामिल किया गया है।

हर दो साल में आयोजित होगा इंडिया आर्ट
लाल किला के इस आयोजन को पांच राज्यों में भी ले जाएगा और यह हर दो साल में आयोजित होगा। पहले इंडिया आर्ट, आर्किटेक्चर एंड डिजाइन बीनाले (आईएएडीबी) में सात “विशेष रूप से क्यूरेटेड” विषयगत प्रदर्शनियां शामिल होंगी, जिसमें 400 साल से अधिक पुराने वास्तुकला को करीब से देखने का मौका मिलेगा। 07 अक्टूबर शाम राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय में आयोजित इंडिया आर्ट, आर्किटेक्चर एंड डिजाइन प्रदर्शनी के लोगों का अनावरण किया गया।

देश दुनिया की कला एवं परंपराओं को समझने का मौका
इस मौके पर केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी (meenakshi lekhi) ने कहा कि इस अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी से भारत की कला, वास्तुकला के क्षेत्र में समृद्ध और इतिहास के साथ देश दुनिया की कला एवं परंपराओं को जानने समझने का मौका मिलेगा। इस बीनाले के माध्यम से वास्तुकला के क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका के बारे में भी समझा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि कला-संस्कृति दुनिया को एक-दूसरे से जोड़ते हैं। 19वीं-20वीं शताब्दी तक मिडल ईस्ट में भारत से दरवाजे जाया करते थे। भारत अपनी कलाकृतियों के लिए मशहूर था। इस क्षेत्र में बड़ा व्यापार हुआ करता था। इस मंच से महिला वास्तुशास्त्री के साथ देश दुनिया के नए वास्तुशास्त्रियों को भी इस मंच से पहचान मिलेगी। लाल किला में ब्रिटिश काल के बैरक में आयोजित होने वाली इस प्रदर्शनी में देश-विदेश के वास्तुशास्त्री, इतिहासकार, इससे जुड़े विशेषज्ञ भाग लेंगे।

यह भी पढ़ें – बदल गया Indian Air Force का ध्वज, एयर चीफ मार्शल ने किया अनावरण

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.