Ghazipur Landfill: दिल्ली के गाज़ीपुर लैंडफिल साइट पर लगी भीषण आग, राहत बचाव का काम जारी

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए उत्खननकर्ताओं को भी काम पर लगाया गया है।

80

Ghazipur Landfill: अधिकारियों ने बताया कि 21 अप्रैल (रविवार) शाम पूर्वी दिल्ली (East Delhi) में गाजीपुर लैंडफिल (Ghazipur Landfill) साइट पर भीषण आग (massive fire) लग गई। दिल्ली अग्निशमन सेवा (डीएफएस) के एक अधिकारी ने कहा, “हमें शाम 5:22 बजे आग लगने की सूचना मिली। दो दमकल गाड़ियों को काम पर लगाया गया। आग बुझाने के प्रयास किए जा रहे हैं। स्थानीय पुलिस को सूचित कर दिया गया है।”

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए उत्खननकर्ताओं को भी काम पर लगाया गया है। इस बीच, भाजपा ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उसने पिछले साल 31 दिसंबर तक गाजीपुर लैंडफिल साइट को खाली करने का वादा किया था लेकिन अपना वादा पूरा नहीं किया।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections 2024: कांग्रेस के परिवारवाद और भ्रष्टाचार के दीमक ने देश को किया खोखला- नरेन्द्र मोदी

लैंडफिल साइट को खाली करने का वादा
एक बयान में, दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि लैंडफिल साइट पर आग लगने के परिणामस्वरूप पूरे क्षेत्र में धुआं फैल गया है, जिससे निवासियों और व्यवसायों को असुविधा हो रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 2022 के एमसीडी चुनाव से पहले पिछले साल 31 दिसंबर तक इस लैंडफिल साइट को खाली करने का वादा किया था। हालाँकि, कचरा साफ़ करने के बजाय और अधिक डाल दिया गया।

यह भी पढ़ें- IPL 2024: केकेआर ने रोमांचक मैच में बेंगलुरु को एक रन से हटाया, अंपायर से भिड़े विराट

2022 में ग़ाज़ीपुर लैंडफिल में आग
2019 में, ग़ाज़ीपुर लैंडफिल की ऊंचाई 65 मीटर थी, जो कुतुब मीनार से केवल आठ मीटर कम थी। 2017 में, डंपिंग यार्ड में कचरे का एक हिस्सा बगल की सड़क पर गिर गया, जिससे दो लोगों की मौत हो गई। 2022 में ग़ाज़ीपुर लैंडफिल में आग लगने की तीन घटनाएं दर्ज की गईं, जिनमें 28 मार्च की एक घटना भी शामिल है, जिसे 50 घंटे से अधिक समय के बाद बुझाया गया था।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.