G-20: दुनिया में काशी से गया ‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’ का संदेश

देश की धार्मिक, आध्यात्मिक, सांस्कृतिक राजधानी काशी (Kashi) से जी-20 संस्कृति कार्य समूह की बैठक के दौरान 'वसुधैव कुटुंबकम' का संदेश पूरे विश्व में गया। अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक कार्यक्रम 'सुर वसुधा' में जी-20 देशों के साथ ही आठ आमंत्रित देश (बांग्लादेश, मॉरिशस, नीदरलैंड, ओमान, सिंगापुर, स्पेन, नाइजीरिया, यूएई) के कलाकार भी हिस्सा बने।

41

वाराणसी (Varanasi) में चार दिवसीय जी-20 (G-20) संस्कृति कार्य समूह (cwg) के अंतिम दिन 26 अगस्त को पूरे दिन जी-20 देशों के संस्कृति मंत्रियों की बैठक हुई। बैठक की अंतिम निशा का आगाज़ अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘सुर वसुधा’ के जी 20 आर्केस्ट्रा से हुआ। जी-20 देशों के सुर-ताल से काशी से ‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’ की भावना का सन्देश पूरी दुनिया में गया। बड़ा लालपुर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल में आयोजित ‘सुर वसुधा’ सांस्कृतिक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) भी मौजूद रहे।

सीएम योगी ने ब्राजील को सौंपा बेटेन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जी-20 ऑर्केस्ट्रा क्विन बेटेन जी-20 की अगली बार अध्यक्षता करने वाले देश ब्राजील को सौंपा। सीएम योगी जी-20 कल्चर वॉकिंग ग्रुप के मेहमानों के सम्मान में आयोजित रात्रि भोज में भी शामिल हुए। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी-20 देशों के संस्कृति मंत्रियों की बैठक की आखिरी शाम को वाराणसी पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल (Arjunram Meghwal) व मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) की मौजूदगी में ब्राजील के संस्कृति मंत्री के प्रतिनिधि को जी-20 के अगली बैठक की अध्यक्षता का क्विन बेटेन सौंपा।

मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित
योगी आदित्यनाथ ने सुर वसुधा (Sur Vasudha) के कंपोजर को अंगवस्त्रम और माला पहनाकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में भारत की प्राचीन परंपरा ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की परिकल्पना को साकार करते हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये। कार्यक्रम में सतत विकास को बढ़ावा देने हेतु ‘वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर’ की परिकल्पना पर भी कार्यक्रम आयोजित कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया।

जी-20 के साथ 8 अन्य देश बने ‘सुर वसुधा’ का हिस्सा
देश की धार्मिक, आध्यात्मिक, सांस्कृतिक राजधानी काशी (Kashi) से जी-20 संस्कृति कार्य समूह की बैठक के दौरान ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का संदेश पूरे विश्व में गया। अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘सुर वसुधा’ में जी-20 देशों के साथ ही आठ आमंत्रित देश (बांग्लादेश, मॉरिशस, नीदरलैंड, ओमान, सिंगापुर, स्पेन, नाइजीरिया, यूएई) के कलाकार भी हिस्सा बने। छह अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने भी हिस्सा लिया। यह कार्यक्रम पहले सऊदी अरब, इटली, इंडोनेशिया में हो चुका है। पहली बार भारत (India) को इसकी अध्यक्षता का अवसर मिला। कार्यक्रम में केन्द्रीय संस्कृति एवं संसदीय कार्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, उत्तर प्रदेश सरकार में पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह, गोविंद मोहन केंद्रीय संस्कृति सचिव, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा समेत जी-20 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

यह भी पढ़ें – ठाणे कोपरी में ड्रग्स की बड़ी खेप मिली, नेपाल टू ठाणे का कनेक्शन आया सामने

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.