Nuh Violence Case: मोनू मानेसर को नहीं मिली राहत, अदालत ने 4 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा

नूंह हिंसा के मामले में गुरुग्राम पुलिस ने 11 सितंबर को मानेसर को गिरफ्तार किया था। राजस्थान पुलिस ने उसे नूंह कोर्ट में पेश कर नासिर और जुनैद की हत्या के मामले में प्रोडक्शन रिमांड पर ले लिया। तब से मोनू राजस्थान की भरतपुर जेल में बंद था।

75

गुरुग्राम (Gurugram) में दर्ज हत्या (Murder) के प्रयास के मामले में कोर्ट (Court) ने मोनू मानेसर (Monu Manesar) को हरियाणा पुलिस (Haryana Police) की चार दिन की रिमांड पर भेज दिया है। फरवरी की शुरुआत में गुरुग्राम पुलिस (Gurugram Police) ने मोनू मानेसर के खिलाफ पटौदी पुलिस स्टेशन (Pataudi Police Station) में धारा 147, 148, 149, 120 बी, 307 और 201 आईपीसी के तहत एक अलग मामला दर्ज (Case Registered) किया था। पटौदी में हत्या के प्रयास के मामले में राजस्थान (Rajasthan) की अजमेर जेल में बंद मोनू मानेसर को हरियाणा पुलिस शनिवार को प्रोडक्शन वारंट (Production Warrant) पर हरियाणा ले आई।

राजस्थान की भरतपुर जेल में बंद
इसके बाद मोनू मानेसर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। नूंह हिंसा मामले में 11 सितंबर को गुरुग्राम पुलिस ने मानेसर को गिरफ्तार किया था और नूंह कोर्ट में पेश कर राजस्थान पुलिस ने उसे नासिर और जुनैद की हत्या के मामले में प्रोडक्शन रिमांड पर लिया था। तब से मोनू राजस्थान की भरतपुर जेल में बंद था।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस ने आदिवासी समाज को वोट बैंक के रूप में किया इस्तेमाल: बाबूलाल मरांडी

हरियाणा पुलिस ने प्रोडक्शन वारंट मांगा था
पटौदी कोर्ट ने भरतपुर जेल अधीक्षक को 25 सितंबर को उसे कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए थे, लेकिन वारंट आने तक मोनू को भरतपुर से अजमेर जेल में ट्रांसफर कर दिया गया था। इसके चलते 25 सितंबर को हरियाणा पुलिस मोनू को पटौदी कोर्ट नहीं ला सकी। इसके बाद हरियाणा पुलिस ने दोबारा कोर्ट से 7 अक्टूबर के लिए मोनू मानेसर का प्रोडक्शन वारंट मांगा।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.