Madhya Pradesh: भोजशाला में 12वें दिन भी ASI सर्वे जारी, हिंदू समुदाय ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

2 अप्रैल को मध्य प्रदेश के धार स्थित भोजशाला में हनुमान चालीसा हुई। सुप्रीम कोर्ट द्वारा मुस्लिम पक्ष की याचिका खारिज करने के बाद पहली बार हनुमान चालीसा का पाठ किया गया।

61

मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय (Madhya Pradesh High Court) की इंदौर खंडपीठ (Indore Bench) के आदेश पर धार की ऐतिहासिक भोजशाला (Bhojshala) में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (Archaeological Survey of India) का सर्वे (Survey) मंगलवार को 12वें दिन भी जारी है। सर्वे के बीच ही मंगलवार को भोजशाला में हिंदू समाज (Hindu Society) ने सामूहिक रूप से हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ किया। इस दौरान भोजशाला मां सरस्वती (Maa Saraswati) के जयघोष से गूंज उठी। राजा भोज और मां सरस्वती जय घोष के साथ में मां सरस्वती की प्रतिमा लंदन से बाहर पहुंचे और भोजशाला में स्थापित हो, इस संकल्प के साथ महिलाएं और पुरुष बाहर आए। हिंदू समाज का अंदर प्रवेश होने के कारण एएसआई की टीम द्वारा बाहरी क्षेत्र में ही सर्वे किया जा रहा है।

भोजशाला में सर्वेक्षण का काम तेजी में अब तेजी आ गई है। मंगलवार को सर्वे के 12वें दिन एएसआई के 20 अधिकारियों और 34 मजदूरों ने सुबह करीब पौने आठ बजे भोजशाला में प्रवेश किया। टीम के साथ हिंदू पक्ष के गोपाल शर्मा, आशीष गोयल और मुस्लिम पक्ष के अब्दुल समद खान मौजूद रहे। पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा की दृष्टि से भोजशाला परिसर के आसपास पुलिस बल तैनात किया हुआ है।

यह भी पढ़ें- VVPAT Slips: सुप्रीम कोर्ट ने VVPAT पर्ची मामले में चुनाव आयोग से जवाब मांगा, जाने पूरा प्रकरण

महिलाओं ने मां सरस्वती की पूजा की
दरअसल, भोजशाला में प्रति मंगलवार को हिन्दू समाज द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ किया जाता है, जबकि प्रति शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय द्वारा नमाज पढ़ी जाती है। इसी क्रम में भोजशाला में हर मंगलवार की तरह बार भी पूजा की गई। यहां हनुमान चालीसा का पाठ करने के बाद महिलाओं ने मां सरस्वती की पूजा की। इस दौरान हिंदू महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष शिवकुमार भार्गव भी साथियों के साथ भोजशाला पहुंचे।

सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे पर रोक लगाने से इनकार कर दिया
बता दें कि मुस्लिम पक्ष द्वारा धार की भोजशाला में चल रहे एएसआई के सर्वे पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर सोमवार को सुनवाई हुई और सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। इसके चलते विशेष रूप से सर्वे को लेकर टीम ने मंगलवार को अपना काम शुरू किया।

मां सरस्वती की स्थापना होगी
मंगलवार को भोजशाला में होने वाले हिंदू सत्याग्रह में शामिल होने आए शिवकुमार भार्गव ने कहा कि भोजशाला में सर्वे के 12 दिन हो गए। यह बहुत खुशी की बात है और विशेष उत्साह का दिन है कि मां सरस्वती बहुत जल्द भोजशाला में स्थापित होने वाली है। सर्वे को लेकर अब तक जो भी जानकारियां सुनी गईं, उसके अनुसार अंदर जो एविडेंस सामने आ रहे हैं, वह सनातनी पक्ष में है और यह बहुत खुशी की बात है। हमारा हजारों वर्षों का संघर्ष अब बहुत जल्द पूरा होने वाला है और मां सरस्वती की स्थापना होगी। खुशी की बात है कि अयोध्या में रामचंद्र जी की स्थापना हो चुकी है और बहुत जल्दी भोजशाला में मां सरस्वती ही स्थापना होगी।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.