UP Board Exam Result: हाईस्कूल में 89 फीसदी और इंटरमीडिएट में 82.60 फीसदी छात्र पास

यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में शामिल होने वाले उम्मीदवारों का इंतजार आज खत्म हो गया। बोर्ड ने 10वीं और 12वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया है।

66

यूपी बोर्ड (UP Board) ने परीक्षा परिणाम घोषित (Exam Result) कर दिये हैं। इस वर्ष 89.55 प्रतिशत बच्चे हाई स्कूल (High School) में और 82.60 प्रतिशत इंटरमीडिएट (Intermediate) बच्चे उत्तीर्ण रहे। माध्यमिक शिक्षा परिषद (Secondary Education Council) के सचिव दिब्यकांत शुक्ला (Secretary Dibyakant Shukla) ने प्रयागराज स्थित मुख्यालय पर इसकी घोषणा की। दसवीं में सीतापुर के शुभम वर्मा ने टॉप किया है। लड़कियों ने फिर बाजी मारी है। दसवीं में सीतापुर के शुभम वर्मा ने टॉप किया है। बागपत के विष्णु चौधरी, अमरोहा की काजल सिंह और सीतापुर की कशिश मार्य दूसरे नंबर पर हैं।

माध्यमिक शिक्षा परिषद हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के नतीजे आ गये हैं। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में कुल 55 लाख 25 लाख 308 परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। खास बात यह है कि कुल 3 लाख 24 हजार आठ परीक्षार्थियों यूपी बोर्ड की परीक्षा छोड़ दी थी, यानि कि रजिस्ट्रेशन कराने के बाद वह परीक्षा देने ही नहीं गए। इस तरह 52 लाख परीक्षार्थियों ने यूपी बोर्ड की परीक्षा दी थी।

यह भी पढ़ें- PM Modi: चुनाव के पहले चरण में ही मतदाताओं ने इंडी गठबंधन को नकार दिया: प्रधानमंत्री मोदी

यूपी बोर्ड की वेबसाइट
यूपी बोर्ड रिजल्ट की आधिकारिक वेबसाइटें हैं।
upmsp.edu.in
upresults.nic.in
Result.upmsp.edu.in

यूपी बोर्ड ने कापियों का मूल्यांकन महज 12 दिन में पूरा कर लिया। यूपी बोर्ड की ओर से उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए 01 लाख 47 हजार 097 परीक्षकों की नियुक्ति की गई थी। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में कुल 2 करोड़ 85 लाख कॉपियों का मूल्यांकन किया गया। 16 से 30 मार्च के बीच कापियों का मूल्यांकन हो गया था।

यूपी बोर्ड की कॉपियों की जांच के लिए प्रदेश भर में मूल्यांकन के लिए कुल 259 केंद्र बनाए गए थे। हाईस्कूल की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य के लिए 131 और इंटरमीडिएट उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए 116 मूल्यांकन केंद्र बनाए गए थे। इसके अलावा 13 मिश्रित मूल्यांकन केंद्रों पर हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य हुआ। निर्धारित किए गए कुल 259 मूल्यांकन केंद्रों में से 83 राजकीय और 177 अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों को मूल्यांकन केंद्र बनाए गए थे।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.