Uttarakhand: श्री केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के खुले कपाट, पर्यटन मंत्री ने श्रद्धालुओं से की यह अपील

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि श्रद्धालु उत्तराखण्ड के अन्य पौराणिक एवं धार्मिक तीर्थ स्थलों का दर्शन करने के साथ-साथ मानसखण्ड के मंदिरों और धार्मिक सर्किटों के दर्शनों का लाभ भी यात्रा के दौरान उठा सकते हैं।

322

Uttarakhand: पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने विश्व प्रसिद्ध श्री केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने पर समस्त देशवासियों एवं भक्तों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों से अपील की कि वे अपना पंजीकरण करवाने के साथ मौसम की जानकारी और समय-समय पर राज्य सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए ही यात्रा करें। उन्होंने अधिकारी और कर्मचारी को ‘अतिथि देवो भवः’ की परम्परा का विशेष ध्यान रखने को कहा।

सरकार ने की है पूरी व्यवस्था
मंत्री सतपाल महाराज ने 10 मई को बताया कि यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों की सुविधा, सुरक्षा को देखते हुए राज्य सरकार ने अनेक व्यवस्थाएं की हैं। चारधाम यात्रा के दृष्टिगत एक स्टेट लेवल कन्ट्रोल रूम की स्थापना देहरादून स्थित उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद मुख्यालय में की गई है जो कि पूरे यात्रकाल के दौरान संचालित रहेगा।

श्रद्धालुओं से सहयोग की अपील
उन्होंने कहा कि पर्यटकों और यात्रियों को लम्बी कतारों से निजात दिलाने के लिये और लाइन में अधिक समय तक प्रतिक्षा न करनी पड़े, इसके लिए धामों में दर्शन के लिए टोकन, स्लॉट की व्यवस्था सुचारू रूप से की जा रही है। यात्रा पर आने वाले यात्रियों से मेरा अनुरोध है कि वह सरकार की ओर से बनाई गयी व्यवस्थाओं का पालन करते हुए यात्रा में सहयोग करें। मेरा यात्रा व्यवस्था में लगे अधिकारियों एवं कर्मचारियों से भी अनुरोध है कि वह यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अतिथि देवो भवः की परम्परा के अनुरूप अपना आचरण करें।

कर्मचारी तैनात
मंत्री ने कहा कि पर्यटन विभाग की ओर से चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों एवं वाहनों की सुरक्षा और निगरानी के लिए पर्यटक सुरक्षा प्रबन्धन प्रणाली के तहत ऑनलाइन, ऑफलाइन पंजीकरण की व्यवस्था की गई है। चारधाम यात्रा के लिये ऋषिकेश एवं हरिद्वार में ऑफलाइन पंजीकरण के लिये भी काउंटर्स उपलब्ध कराये गये हैं। इस व्यवस्था को सुचारू बनाये रखने के लिये आवश्यक है कि चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्री और पंजीकरण में लगे कर्मचारी और अधिकारी एक-दूसरे का सहयोग करते हुए कार्य करें। चारधाम यात्रा में लगे कर्मचारी पुरी मुस्तौदी के साथ यात्रियों की सेवा में लगे हैं। चारधाम यात्रा के दौरान सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा गया है। यात्रा मार्गाें पर बड़ी संख्या में स्थाई शौचालयों के साथ-साथ अस्थाई शौचालयों की भी पर्याप्त व्यवस्था है।

52 पर्यटक आवास गृहों की मरम्मत
उन्होंने बताया कि यात्रियों की आवासीय सुविधा को ध्यान में रखते हुए गढ़वाल मण्डल विकास निगम की ओर से चारधाम यात्रा मार्ग पर पड़ने वाले लगभग 52 पर्यटक आवास गृहों की मरम्मत और सौन्दर्यकरण का काम किया गया है। निगम की ओर से अब तक लगभग 74 पैकेज टूरों के अतिरिक्त 107 पैकेज टूरों का आरक्षण किया जा चुका है। केदारनाथ वैली में पिक्स आवासीय सुविधा 389 बेड्स व लगभग 2500 बेड्स की आवासीय सुविधा के लिए टेन्ट लगाये गये हैं।

मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि श्रद्धालु उत्तराखण्ड के अन्य पौराणिक एवं धार्मिक तीर्थ स्थलों का दर्शन करने के साथ-साथ मानसखण्ड के मंदिरों और धार्मिक सर्किटों के दर्शनों का लाभ भी यात्रा के दौरान उठा सकते हैं।

राष्ट्रीय राजमार्गों की विशेष रूप से निगरानी
लोक निर्माण मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा के अन्तर्गत आने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों की विशेष रूप से निगरानी रखने के प्रबन्ध किये गये हैं। चारधाम यात्रा मार्ग पर अधिकांशतः मार्ग अवरूद्ध होने वाले स्थानों का चिन्हिकरण करने के साथ-साथ इन स्थानों पर ईपीसी कॉन्ट्रैक्टर और विभागीय अधिकारियों की देख-रेख के अलावा 36 मशीनें लगाई गई हैं। लोक निर्माण विभाग के अधीन आने वाले वैकल्पिक मार्गों पर भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र में 40 मशीनें तैनात की गई हैं।

यात्रा मार्ग पर ईवी चार्जिगं स्टेशन स्थापित
मंत्री महाराज ने कहा कि परिवहन विभाग भारत सरकार द्वारा चारधाम यात्रा मार्ग पर गढ़वाल मण्डल विकास निगम के सहायोग से ईवी चार्जिगं स्टेशन स्थापित किये गये हैं। अभी तक 28 स्थानों पर 60 किलोवाट के ईवी चार्जर पंहुचा दिये गये हैं जबकि 27 जगहों पर चार्जर के लिए फांउडेशन का कार्य किया जा चुका है। अभीतक 17 स्थानों पर ईवी चार्जर पूर्णतः स्थापित किये जा चुके हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.