देश को मिलेगी पहली RapidX Train, पीएम मोदी दिखाएंगे हरी झंडी

साहिबाबाद में रैपिडएक्स के उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैपिड ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे।

125

देश की पहली रैपिडएक्‍स ट्रेन (RapidX Train) चलने के लिए तैयार हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 20 अक्टूबर को साहिबाबाद (Sahibabad) से दुहाई (Duhai) तक 17 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर का उद्घाटन करने गाजियाबाद (Ghaziabad) आ रहे हैं। बता दें कि यह दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) ही नहीं देश का पहला रिजनल रैपिडएक्स ट्रेन (Regional RapidX Train) है, जिसकी शुरुआत होने जा रही है। रैपिडएक्स ट्रेन की सवारी करने वाले बुजुर्गों, बच्चों, दिव्यांग और महिलाओं के लिए खासतौर पर विशेष व्यवस्था की गई हैं। दिल्ली-एनसीआर में यह व्यवस्थाएं दिल्ली मेट्रो से बिल्कुल अलग है। दिल्ली मेट्रो में जो सुविधाएं पैसे देकर यात्रियों को मिलती हैं, रैपिडएक्स ट्रेन में वही सुविधाएं फ्री में मिलने जा रही हैं।

साहिबाबाद से दुहाई तक 17 किलोमीटर लंबे रेल खंड पर पांच स्टेशन साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो स्टेशन हैं। सभी स्टेशनों पर यात्रियों के लिए लिफ्ट और एस्कलेटर की सुविधा दिल्ली मेट्रो की तरह की गई है। दिल्ली मेट्रो में जहां शौचालय के पैसे देने पड़ते हैं, वहीं रैपिडएक्स ट्रेन में हर स्टेशन पर फ्री में शौचालय और पेयजल की सुविधा भी मिलेगी। दिल्ली मेट्रो में आपको शौचालय के लिए आपको पैसे देने पड़ते हैं। इसके साथ ही रैपिडएक्स ट्रेन में बच्चों के लिए डायपर बदलने की भी व्यवस्था अलग से की गई है।

यह भी पढ़ें- आईसीआईसीआई और कोटक महिंद्रा बैंक पर RBI की बड़ी कार्रवाई, जानें क्या है प्रकरण

सीएम योगी का ड्रीम प्रेजेक्ट बन कर तैयार
बता दें कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है। पीएम मोदी के कार्यक्रम को लेकर गाजियाबाद जिला प्रशासन के अधिकारियों को मौखिक रूप से अवगत करा दिया गया है। पिछले दिनों खुद सीएम योगी आदित्यनाथ गाजियाबाद आकर पीएम मोदी के कार्यक्रम का जायजा लिया है। पहले चरण में इसी साल जून में रैपिडएक्स ट्रेन चलाने की तैयारी थी, लेकिन काम पूरा नहीं होने की वजह से इसे टाल दिया गया था।

परिचालन शुरू होने से लोगों को होगा फायदा
रैपिडएक्स ट्रेन 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है, लेकिन फिलहाल इसकी गतिसीमा 100 किलोमीटर रखी गई है। हर स्टेशन पर ट्रेन 5 से 10 मिनट में उपलब्ध रहेगी। रात में सिर्फ 6 घंटे के लिए ही इसका परिचालन बंद किया जाएगा। परिचालन शुरू होने से शहरी, आसपास के गांव और शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों को ज्यादा लाभ मिलेगा।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.