Prime Minister लाल किले में पहले भारतीय कला, वास्तुकला का करेंगे उद्घाटन! ये है उद्देश्य

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार वेनिस, साओ पाउलो, सिंगापुर, सिडनी और शारजाह में अंतरराष्ट्रीय द्विवार्षिक की तर्ज पर भारत में एक प्रमुख वैश्विक सांस्कृतिक पहल को विकसित और संस्थागत बनाना मोदी का दृष्टिकोण रहा है।

1124

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) 8 दिसंबर को लाल किले(Red Fort) में पहले भारतीय कला, वास्तुकला और डिजाइन द्विवार्षिक (आईएएडीबी)(IAADB) का उद्घाटन करेंगे।

पीएमओ(PMO) ने 7 दिसंबर को एक बयान जारी कर बताया कि प्रधानमंत्री 8 दिसंबर को शाम लगभग 4 बजे लाल किले में आयोजित होने वाले पहले भारतीय कला, वास्तुकला और डिजाइन द्विवार्षिक (आईएएडीबी)(IAADB) 2023 का उद्घाटन करेंगे। कार्यक्रम के दौरान वह लाल किले पर आत्मनिर्भर भारत सेंटर फॉर डिजाइन और छात्र द्विवार्षिक- समुन्नति का भी उद्घाटन करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी का दृष्टिकोण
प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार वेनिस, साओ पाउलो, सिंगापुर, सिडनी और शारजाह में अंतरराष्ट्रीय द्विवार्षिक की तर्ज पर भारत में एक प्रमुख वैश्विक सांस्कृतिक पहल को विकसित और संस्थागत बनाना मोदी का दृष्टिकोण रहा है। इस दृष्टिकोण के अनुरूप, संग्रहालयों को पुन: आविष्कार, पुनर्ब्रांड, पुनर्निर्मित और पुन: स्थापित करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया गया था। इसके अलावा, भारत के पांच शहरों कोलकाता, दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद और वाराणसी में सांस्कृतिक स्थलों के विकास की भी घोषणा की गई।

Disha Salian death case: आदित्य ठाकरे की बढ़ेंगी मुश्किलें? उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने दिया ये आदेश

दिल्ली में सांस्कृतिक क्षेत्र का परिचय
पीएमओ के अनुसार, भारतीय कला, वास्तुकला और डिजाइन द्विवार्षिक (आईएएडीबी) दिल्ली में सांस्कृतिक क्षेत्र के परिचय के रूप में काम करेगा। आईएएडीबी का आयोजन 9 से 15 दिसंबर तक लाल किला, नई दिल्ली (New Delhi)में किया जा रहा है। यह हाल ही में आयोजित अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय एक्सपो (मई, 2023) और लाइब्रेरी फेस्टिवल (अगस्त, 2023) जैसी प्रमुख पहलों का भी अनुसरण करता है। आईएएडीबी को सांस्कृतिक संवाद को मजबूत करने के लिए कलाकारों, वास्तुकारों, डिजाइनरों, फोटोग्राफरों, संग्राहकों, कला पेशेवरों और जनता के बीच समग्र बातचीत शुरू करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह उभरती अर्थव्यवस्था के हिस्से के रूप में कला, वास्तुकला और डिजाइन के रचनाकारों के साथ विस्तार और सहयोग करने के रास्ते और अवसर भी प्रदान करेगा।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.