‘लोक साहित्य एवं भारतीय ज्ञान परम्परा’ पर महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी की राष्ट्रीय संगोष्ठी

389

महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी, मुंबई (Maharashtra State Hindi Sahitya Academy, Mumbai) , अखिल भारतीय हिंदी साहित्य परिषद, नाशिक तथा एच. पी. टी. आर्ट्स एण्ड आर. वाई. के. साइंस कॉलेज, नाशिक के संयुक्त तत्वावधान में इस कॉलेज के गुरुदक्षिणा सभागार में ‘लोक साहित्य एवं भारतीय ज्ञान परम्परा’ (Folk literature and Indian knowledge tradition) विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का सफल आयोजन किया गया।

महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी, मुंबई के कार्याध्यक्ष डॉ. शीतला प्रसाद दुबे की अध्यक्षता में आयोजित उद्घाटन सत्र में वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. श्रीराम परिहार एवं अन्य अतिथिगणों ने दीप प्रज्ज्वलित कर इस राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन किया। प्रथम सत्र में ‘भारतीय ज्ञान परम्परा’ विषय पर जयपुर के इंदुशेखर तत्पुरुष, नाशिक के दिलीप क्षीरसागर, डॉ. रोचना भारती, डॉ. सुबोध कुमार मिश्र, डॉ. चंद्रिका प्रसाद मिश्र एवं डॉ. श्रीराम परिहार ने अपने विचार व्यक्त किये। विभिन्न अतिथियों द्वारा इस मौके पर प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन भी किया गया।

यह भी पढ़ें – धनबाद से एर्नाकुलम के लिए इस दिन चलेगी स्पेशल ट्रेन, जानें समय और रूट

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.