मोबाइल दें मरम्मत में तो रखें ध्यान… वर्ना उस बेचारी जैसे हो जाएंगे शिकार

मोबाइल की मरम्मत के समय उसके अंदर के डेटा का रखें ध्यान।

मुंबई की दंत चिकित्सक बड़ी कठिनाई से अपने आपको रोक पाई। उसने तो उस धोखे के बाद अपनी जीवन लीला ही समाप्त करने का निर्णय ले लिया था। परंतु, पुलिस की तत्परता और परिवार का संबल साथ था और वो आज फिर अपनी प्रैक्टिस कर रही है।

यह माता रमाबाई आंबेडकर पुलिस थाने के अंतर्गत पंजीकृत एक प्रकरण की घटना है। जिसमें मुंबई में रहनेवाली एक दंत चिकित्सक ने बताया कि उसने मोबाइल अपना मोबाइल मरम्मत के लिए कंपनी के ग्रांट रोड स्थित सर्विस सेंटर में दिया था। जहां पर रिपेयरिंग के बाद मोबाइल वापस भी मिल गया।

इसे मराठी में पढ़ें – मोबाईल रिपेअरिंगला देताय? मग सावधान… तुमच्यासोबतही होऊ शकते ‘असे’

अचानक एक कॉल ने दे दिया झटका
दंत चिकित्सक महिला को लगभग छह महीने बाद एक कॉल आया। कॉल करनेवाले ने अपना नाम तारिक रहमान बताया। उसने यह भी बताया कि मोबाइल रिपेयरिंग के समय डॉक्टर की पुरुष के साथ कुछ अंतरंग वीडियोज उसने ले लिया है। जिसकी ऐवज में उसे तीन लाख रुपए दे अन्यथा वो उसे वायरल कर देगा। इसके बाद महिला डॉक्टर के नीचे से जमीन ही खिसक गई। वो इस घटना को लेकर एमआरए पुलिस थाने लेकर पहुंची।

एक्शन मोड में पुलिस
इस प्रकरण की शिकायत मिलते ही एमआरए मार्ग पुलिस ने हफ्ता उगाही का मामला दर्ज किया। इसकी जांच में तारिक की लोकेशन नालासोपारा मिली जहां से उसे जांच अधिकारी सतीश गायकवाड के नतृत्व में गई टीम ने गिरफ्तार कर लिया। तारिक ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए पुलिस को सारी घटना बताई।

ईद मनाने के लिए मांगा पैसा
तारिक ने बताया कि उसे ग्रांट रोड स्थित मोबाइल सर्विस सेंटर से नौकरी छोड़ दी है। अब ईद के लिए पैसे चाहिए इसलिए उसने महिला के मोबाइल रिपेयरिंग के समय जो उसके पति के साथ के अंतरंग वीडियो था उसे कॉपी कर लिया था। उसने उसी से नंबर भी ले लिया था। जिसका उपयोग अब उसने किया।

ये भी पढ़ें – बुरे फंसे अनिल देशमुख… एफआईआर पर सरकार की हार, लटकी कार्रवाई की तलवार

रिपेयरिंग में देते समय रखें ध्यान
पुलिस निरिक्षण सतीश गायकवाड ने लोगों से अपील की है कि कभी भी मोबाइल रिपेयरिंग में देते समय उसका डेटा ट्रांसफर करके डिलीट करके ही दें। जिसके कारण इस प्रकार की घटना न घटे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here