इसलिए केरल के इस युवक ने छोड़ दिया इस्लाम!

केरल के अस्कर अली ने मलप्पुरम की एक प्रमुख धार्मिक अकादमी हुदवी में 12 साल तक इस्लाम का अध्ययन किया। उसके बाद उसने इस्लाम छोड़ने का फैसला किया।

12 साल तक इस्लाम का अध्ययन करने वाले एक युवक ने इस्लाम छोड़ने का फैसला किया। उस 24 वर्षीय युवक का नाम अस्कर अली है और वह केरल के कोलम जिले में रहता है। इस्लाम का अध्ययन करने के 12 साल बाद, उसने कबूल किया कि उसका मोहभंग हो गया। युवक अस्कर ने कहा, “अगर आप भारतीय सेना में शामिल होते हैं, तो आपको पाकिस्तानी लोगों पर गोली चलानी होगी, इसलिए भारतीय सेना में मत जाओ, यह शिक्षा इस्लाम पढ़ाते समय दी गई थी।” उसने कहा कि वह इस शिक्षा से सहमत नहीं था, इसलिए उसने इस्लाम छोड़ दिया। उसने बताया कि इस्लाम छोड़ने के बाद उसके परिवार और रिश्तेदारों ने उसे काफी परेशान किया।

इसलिए छोड़ दिया इस्लाम
अस्कर अली ने मलप्पुरम की एक प्रमुख धार्मिक अकादमी में 12 साल तक इस्लाम का अध्ययन किया। उसने कहा, “हमें दूसरे धर्म के लोगों से नफरत करना और अपने धर्म से प्यार करना सिखाया जाता है। इतना ही नहीं, मुसलमानों को भारतीय सेना में शामिल नहीं होना चाहिए। क्योंकि सेना में शामिल होना मुसलमानों को मारना सिखाता है, भी सिखाया जाता है।” उसने स्पष्ट किया कि इस्लाम एक फासीवादी धर्म है।

परिजनों ने किया अपहरण का प्रयास
अली ने आगे कहा कि उनके रिश्तेदारों ने 1 मई को एसेन्स ग्लोबल कॉन्फ्रेंस को संबोधित करने से पहले मेरा अपहरण करने की कोशिश की। अली ने रिश्तेदारों सहित 10 सदस्यीय गिरोह पर कोलम में अपहरण और पिटाई का आरोप लगाया है। कोलम पुलिस ने असकर अली की शिकायत पर 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अली ने कहा कि रिश्तेदारों ने मेरा मोबाइल तोड़ दिया और मेरे कपड़े भी फाड़ दिए। यहां तक कि उन्होंने मुझे अपनी कार में अपहरण की कोशिश की। अली ने कहा, “स्थानीय लोगों के चिल्लाने पर वे भाग खडे़ हुए।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here