जानें उन क्षणों को जब मिली राज्यों को संजीवनी?

देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में टीकाकरण की शुरुआत हो चुकी है। कोविड-19 से रक्षा के लिए दो टीकों को लगवाना होगा जिसका पहला टीका लगना शुरू हो गया है। केंद्र सरकार ने इसके लिए कोविन डिजिटल प्लेटफार्म का निर्माण किया है जिसकी सहायता से वैक्सीन संबंधी जानकारी लोगों से साझा की जाएंगी।

देश के अलग-अलग राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भी कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत हो गई है। इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल, तमिलनाडु आदि राज्यों में इसक लंबे काल से प्रतिक्षा की जा रही थी।

पूरे देश के 3,006 केंद्रो पर टीकाकरण शुरू किया गया। जिसमें से कुछ राज्यों की जानकारी हम साझा कर रहे हैं। इनमें से अधिकतर वो राज्य हैं जो कोविड-19 संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित रहे हैं।

महाराष्ट्र
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में राज्य में टीकाकरण की शुरुआत हुई। इस अवसर पर सीएम ने कहा कि, हम क्रांतिकारी कदम आगे बढ़ा रहे हैं। टीका लेने के बाद भी ध्यान रखना होगा। हमें कोरोना का अंत करना है। कुछ देशों में तेजी से कोरोना का संक्रमण बढ़ा रहा है। वो हम तक न आए इसके लिए ध्यान रखना होगा।

दिल्ली
दिल्ली में कोविड-19 का पहला टीका एक सफाई कर्मचारी को लगाया गया। कर्मचारी ने एम्स अस्पताल में टीकाकरण करवाया। इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन में उपस्थित थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्यमंत्री सतेंद्र जैन एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ने टीकाकरण कार्यक्रम की देखरेख की। उन्होंने कहा है कि, दिल्ली में लोग टीकाकरण से बहुत प्रसन्न हैं। सरकार टीकाकरण केंद्र अभी और बढ़ाएगी। राष्ट्रीय राजधानी के 81 टीकाकरण केंद्रों पर 8,100 स्वास्थ्यकर्मियों का टीका लगेगा।

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर कोविड-19 टीकाकरण केंद्र पर जाकर कार्य की देखरेख की। यहां 102 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जा रहा था।

जम्मू कश्मीर
जम्मू-कश्मीर में टीकाकरण की शुरुआत हुई है। राज्यपाल मनोज सिन्हा की उपस्थिति में इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई। राज्य के जम्मू-कश्मीर मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में टीकाकरण किया जा रहा है। इस अवसर पर कर्मचारियों ने बताया कि किन परिस्थितियों में उन्हें सेवाएं देनी पड़ी हैं। इक कर्मी ने बताया कि वो 6-7 महीनों तक घर ही नहीं जा पाया था। राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि टीकाकरण के द्वितीय चरण के बाद जम्मू-कश्मीर पूरी तरह से सुरक्षित हो जाएगा।

कर्नाटक
कर्नाटक में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की उपस्थिति में बैंगलोर मेडिकल कॉलेज में टीकाकरण की शुरुआत हुई। राज्य में पहला टीका श्रीमती नागरत्न को दिया गया वो कोरोना वॉरियर हैं और विक्टोरिया अस्पताल में कार्यरत हैं।

आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश में मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी की उपस्थिति में टीकाकरण की शुरुआत हुई। मुख्यमंत्री ने नई राजधानी विजयवाड़ा के सरकारी अस्पताल में जाकर इस टीकाकरण अभियान का जायजा लिया। राज्य में कुल 332 केंद्र हैं जिनमें 3.83 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here