GST: अप्रैल में जीएसटी राजस्व संग्रह ने रचा इतिहास, जानिये अप्रैल में कितना हुआ कलेक्शन

वित्त मंत्रालय ने 1 मई को जारी एक बयान में बताया कि घरेलू लेन-देन तथा आयात में मजबूत वृद्धि से जीएसटी राजस्व संग्रह बढ़ा है।

351

GST: वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के रिकॉर्ड संग्रह से केंद्र सरकार(Central Government) का खजाना भर गया है। चालू वित्त वर्ष 2024-25(Current financial year 2024-25) के पहले महीने अप्रैल में जीएसटी संग्रह सलाना आधार पर 12.4 फीसदी बढ़कर 2.10 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड स्तर पर(At a record high of Rs 2.10 lakh crore पहुंच गया है। इससे पिछले महीने मार्च में जीएसटी राजस्व संग्रह 1.87 लाख करोड़(GST revenue collection 1.87 lakh crore in March) रहा था।

हर महीने 18 प्रतिशत की वृद्धि
वित्त मंत्रालय(Ministry of Finance) ने 1 मई को जारी एक बयान में बताया कि घरेलू लेन-देन तथा आयात में मजबूत वृद्धि से जीएसटी राजस्व संग्रह बढ़ा है। मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल में जीएसटी राजस्व संग्रह 12.4 फीसदी उछलकर 2.10 लाख करोड़ रुपये रहा है। इससे पिछले महीने मार्च में जीएसटी राजस्व संग्रह 1.87 लाख करोड़ रहा था। वहीं, महीने-दर-महीने आधार पर जीएसटी राजस्व संग्रह में 18 फीसदी की ग्रोथ आई है।

अप्रैल में कुल 2,10,267 करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह
मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल में कुल 2,10,267 करोड़ रुपये के जीएसटी राजस्व संग्रह में केंद्रीय जीएसटी संग्रह (सीजीएसटी) 43,846 करोड़ रुपये और राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) 53,538 करोड़ रुपये रहा। वहीं, एकीकृत जीएसटी (आईजीएसटी) 99,623 करोड़ रुपये (माल के आयात पर संग्रह किए गए 37,826 करोड़ रुपये सहित) और सेस 13,260 करोड़ रुपये रहा। सेस में माल के आयात से मिले 1008 करोड़ रुपये शामिल हैं।

China: दक्षिणी गुआंग्डोंग प्रांत में भारी बारिश और बाढ़ का कहर, 19 लोगों की मौत

ऐतिसहासिक माइल स्टोन को किया पार
वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि जीएसटी संग्रह दो लाख करोड़ रुपये के ऐतिहासिक माइलस्टोन को पार कर गया है। मंत्रालय के मुताबिक रिफंड के बाद अप्रैल 2024 के लिए नेट जीएसटी रेवेन्यू 1.92 लाख करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि यानी अप्रैल 2023 की तुलना में 17.1 फीसदी ज्यादा है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.